किसी स्वर्ग से कम नहीं है पश्चिमी सिक्किम के ये 6 प्रमुख पर्यटन स्थल – Tourist places to visit in West Sikkim

Image source

आज हम आपको पश्चिमी सिक्किम में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन (Best tourist places to visit in west Sikkim) स्थलों के बारे में बताएँगे। सिक्किम देश के उत्तरी भाग में स्थित एक खूबसूरत राज्य है। भारत देश जंहा आपको धरातल से बहती नदी मिलेगी तो आकाश को छूते हुए पर्वत भी मिलेंगे। यहां आपको शांत सरोवर भी मिलेगा तो शोरगुल से भरा हुआ पूरा बाजार भी मिलेगा। यदि आप भी इस भागदौड़ भरी जिंदगी में कुछ पल शांति चाहते हैं तो आप भारत की कई जगह घूम सकते हैं।

पूर्वी सिक्किम में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल

यदि आपको कुछ ऐसी जगह कि तलाश कर रहें हैं जंहा प्राकृतिक सुंदरता कि कोई कमी न हो तो आप सिक्किम जा सकते हैं और यदि आप सिक्किम के पश्चिमी सिक्किम का दौरा करते हैं तो फिर बात ही अलग है। सिक्किम जाकर आपको किसी जन्नत से कम महसूस नहीं होगा, लगेगा कि आप किसी स्वर्ग में आ गए हैं।

पश्चिमी सिक्किम की वो जगह जहां आप घूम सकते हैं। (Best Tourist places to visit in West Sikkim)

वैसे तो पूरे सिक्किम का खूबसूरती और हरियाली के मामले में कोई जवाब नहीं है लेकिन फिर भी आपको बता दें कि पश्चिमी सिक्किम में घूमने लायक आपको ऐसी जगह मिलेंगी जहां आपको अलग ही अनुभव होगा। आज के इस आर्टिकल में हम आपको पश्चिमी सिक्किम में स्थित प्रमुख पर्यटन स्थल (Tourist places to visit in West Sikkim) के बारे में बताएँगे। प्राकृतिक सुंदरता से भरे सिक्किम कि यह यात्रा आपको जीवन भर याद रहेगी।

आप इसे सकते हैं : सिक्किम का इतिहास, संस्कृति, खान पान, रीति रिवाज और सामान्य ग्यान

पेलिंग (Pelling)

गंगटोक से 130 किलोमीटर दूर पेलिंग सिक्किम का वो खूबसूरत शहर है, जिसे देखते ही लोग बोलते हैं,ऐसी खूबसूरती देखी नहीं कभी। धरती से लगभग 6800 फिट की ऊंचाई में बसा पेलिंग देखने पर ऐसा लगता है मानो आप किसी जन्नत में आ गए हो। यदि आपको वाइल्डलाइफ फोटोग्राफी या फिर ट्रैकिंग का शौक है तो आप पेलिंग जरूर जाए। यह हिल स्टेशन भी  माना जाता है।

आप  पेलिंग में जहां भी खड़े हो जायेंगे वहां पर आपको कंचनजंगा की चोंटिया देखने को मिलेंगी। लिंबू समुदाय की जातियों से बसा यह शहर जिसमें पेमयांग्स्ते और संगचोएलिंग बौद्ध मठ है। यहां पर आप सिंगशोरे ब्रिज, छांगे वॉटरफॉल और खेचुपेरी झील भी घूम सकते है। यहां पर खाने में आपको नेपाली सिक्किम और तिब्बती खाना मिलेगा।यदि आप पेलिंग जाए तो मोमो,थुकपा,गुंड्रुक और सिंकी,फगशापा सेल रोटी जरुर खाए।

कब जाएं पेलिंग

वैसे तो आप कभी भी पेलिंग जा सकते हैं लेकिन गर्मियों में जाना सबसे ज्यादा अच्छा माना जाता है। बता दें  कि यदि आप अगस्त के महीने में जाते हैं तो आप कंचनजंगा फेस्टिवल का मजा ले सकते हैं। इस फेस्टिवल मैं यहां पर कई एक्टिविटीज होती हैं। व्हाइट वॉटर राफ्टिंग, ट्रैकिंग बाइकिंग कर सकते हैं।

कंचनजंगा नेशनल पार्क (Kangchenjunga National Park)

हिमाचल की गोद में बसा हुआ कंचनजंगा नेशनल पार्क दुनिया का  तीसरा सबसे बड़ा पर्वत मौजूद है। कंचनजंगा लगभग 8000 की ऊंचाई तक मौजूद है। इस पार्क के किसी भी इलाके में आप चले जाए,चारों तरफ हरियाली ही हरियाली दिखेगी। यहां पर आपको कई प्रकार की औषधिया वनस्पतियां मिल जाएंगी। यदि आपको वर्ल्ड लाइफ फोटोग्राफी में इंटरेस्ट है तो यह जगह आपके लिए काफी इंटरेस्टिंग है।

यहां पर आपको कई सारे  एनिमल्स देखने को मिलेंगे। आपको कई सारे ग्लेशियर देखने को मिल जाएंगे। आप यहां पर ट्रैकिंग कर सकते हैं। जीप सफारी कर सकते हैं। और भी यहां पर आपको बहुत सारी चीजें मिलेंगी देखने के लिए।

कब जाए कंचनजंगा नेशनल पार्क

वैसे तो आप यहां पर कभी भी घूमने जा सकते हैं लेकिन आपको बता दें मार्च से अप्रैल के महीने में जाए या फिर सितंबर या दिसंबर में  जाए। हां पर बता दें कि यदि आप इंडिया से हैं तो आपको 300रुपए पर पर्सन टिकट लगेगी। और यदि आप आउट ऑफ इंडिया से हैं तो आपको 550रुपए पर पर्सन टिकट लगेगी। 50रुपए आपको एक्स्ट्रा सर्विस चार्ज देना पड़ेगा।

खेचियोपालरी लेक (Khechiopalri Lake)

खेचियोपालरी लेक को बुद्धों का सबसे पवित्र स्थान माना जाता है। पेलिंग से 34 किलोमीटर की दूरी पर है। आपको बता दें यह झील धार्मिक और दार्शनिक रूप से सभी के लिए अच्छी पीसफुल प्लेस है। ट्रैकिंग से लेकर यहां पर आप  पैराग्लाइडिंग तक कर सकते हैं। और यदि आप नेचर लवर है  तो ये  आपके लिए सबसे अच्छा प्लेस है।

यहां आपको कई सारी ऐसी चीजें मिलेंगी जिसके बारे में आपको जानने की इच्छा होगी। देखा जाए तो ये जगह एक अद्भुत रहस्य से कम नहीं है। चारों तरफ जंगल होने के बाद भी इस झील के पानी में एक भी पत्ते नहीं है। यहां का सनसेट काफी फेमस है।यहां पर आपको सिक्किम का खाना और स्ट्रीट फूड मिल जाएंगे।

कब जाएं खेचियोपालरी लेक

यहां पर आप अक्टूबर से मई के महीने में घूम सकते हैं। गर्मी और बसंत ऋतु में यहां पर अच्छा लगता है। यहां पर पहुंचने के लिए आपको गंगटोक बस या कैब लेना पड़ेगा

युकसोम (Yuksom)

युक्सोम, पेलिंग से लगभग 35 किलोमीटर दूर  है। ये सिक्किम के हिस्टोरिकल प्लेस में से एक है। ये बहुत ही पीसफुल प्लेस माना जाता है। कहते हैं यह इलाका बौद्ध भिक्षुओं के लिए माना जाता है। जिन्होने तिब्बत की यात्रा की थी। यहां पर दूबड़ी मठ है। जिसकी शानदार वस्तु कला आप का मन मोह लेगी।

कब जाएं युकसोम

आप अप्रैल से जून के बीच युगसोम जा सकते है।

यहां पर आपको सुनहरा मौसम मिलेगा। आप सितंबर से मार्च तक भी युगसोम जा  सकते हैं। यदि आप ट्रैकिंग बगैरा करना चाहते हैं तो आप सर्दियों के मौसम में ही युगसोम जाए। आप प्लेन से जाते हैं युगसोम तो आपको बागडोगरा एअरपोर्ट पे रुकना पड़ेगा। युकसोम की दूरी 140 किलोमीटर है तो आप बस से भी जा सकते हैं। ट्रेन से जाने पर आपको जलपाईगुड़ी रेलवे स्टेशन पर उतरना होगा।

दाराप गांव (Darap Village)

यदि आपको गांव में रहने का शौक है और आप बॉलीवुड की फिल्मों के गांव जैसे गांव में रहना चाहते हैं। तो आप दाराप गांव जा सकते हैं। आपको कम जगह की ट्रैकिंग करनी है तो यह गांव आपके लिए सबसे अच्छी प्लेस है। यहां की स्प्रिटिचुअल वाइब्स आपका मन मोह लेगी। आप यहां पर अपना क्वालिटी टाइम स्पेंड कर सकते हैं। यहां पर आपको पहाड़ी खाना,सिक्किम और तिब्बती खाना भी मिलेगा।और बर्फ से ढके हुए पहाड़ मिलेंगे।

कब जाए दाराप गांव

दाराप गांव की ट्रिप के लिए आप मार्च से जून के टाइम में जा सकते हैं। यदि आप फ्लाइट से जाते हैं तो आपको बागडोगरा उतरना पड़ेगा और यदि ट्रेन से जाते हैं तो आपको जलपाईगुड़ी उतरना पड़ेगा।

गेजिंग (Gauging)

ग्यालशिंग या फिर यूं कहे गेजिंग सिक्किम के बाकी टूरिस्ट प्लेस के  जैसे यह भी एक बहुत ही खूबसूरत प्लेस है। ये ऊंची नीची पहाड़ियों के बीच बसा हुआ है। ग्यालशिंग जिसका मीनिंग होता है किसी  राजा का बगीचा। यह कभी एक शाही बगीचा हुआ करता था। यहां पर नेपाली लोग रहते है।इस वजह से इस शहर की खूबसूरती मैं नेपाली संस्कृति झलकती है। यह घूमने के लिए बहुत अच्छी जगह है। यहां पर आपको तिब्बती से लेकर नेपाली और भारतीय  खाना  मिल जाएगा।

गेजिंग कब जाएं

आप यहां पर अप्रैल-जून में जा सकते हैं और सितंबर से दिसंबर तक मैं जा सकते हैं। यहां पर घूमने के लिए गर्मी और सर्दी का मौसम दोनों खास रहते हैं। आपको यहां पर जाने के लिए बागडोगरा हवाई अड्डे पर उतरना पड़ेगा वहां से आप कैब या टैक्सी के थ्रू जा सकेंगे। यदि आप ट्रेन से जाते हैं तो आपको जलपाईगुड़ी रेलवे स्टेशन पर उतरना पड़ेगा वहां से आपको  यहां के लिए बस या कैब मिल जाएगी।

निष्कर्ष

यह थी पश्चिमी सिक्किम की ऐसी जगह (Best tourist places to visit in west Sikkim) जहां आप अपनी छुटियां मनाने जा सकते है। और वहां पर अपना क्वालिटी टाइम स्पेंड कर सकते हैं। हमने आपको पश्चिमी सिक्किम के बारे में सारी जानकारी दे दी है। हम उम्मीद करेंगे कि आप जल्द से जल्द यहां पर घूमने जाएंगे।

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रीलंका में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल। भूटान में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल | भूटान से 10 जुड़े रोचक तथ्य (Interesting facts About Bhutan) 10 ट्रेवल कंटेंट क्रिएटर जो महीनों का लाखों कमाते है। कैंची धाम – नीम करोली बाबा से अनसुलझे जुड़े रहस्य।
श्रीलंका में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल। भूटान में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल | भूटान से 10 जुड़े रोचक तथ्य (Interesting facts About Bhutan) 10 ट्रेवल कंटेंट क्रिएटर जो महीनों का लाखों कमाते है। कैंची धाम – नीम करोली बाबा से अनसुलझे जुड़े रहस्य।