त्सोमगो लेक बजट यात्रा: कंप्लीट टूर गाइड | Tsomgo Lake In Hindi

Tsomgo Lake In Hindi

भारत का 22 वां राज्य सिक्किम,जिसकी खूबसूरती को चार चाँद वहां की पर्वत चोटियां पवित्र झीलें, प्राचीन मठ, और आश्चर्यजनक ट्रेकिंग मार्ग लगाते हैं। उसी खूबसूरत राज्य में समुद्र तल से 12,310 फीट की ऊंचाई पर त्सोम्गो लेक है। जिसे चांगु लेक के नाम से भी जाना जाता है। सिक्किम की लोकल भाषा में त्सोमगो” नाम का अर्थ “पानी का स्रोत” है। जब भी कोई सिक्किम की यात्रा करता है। तो वह सबसे पहले त्सोम्गो लेक जाना पसंद करता है।

यदि आप भी सिक्किम यात्रा पर जा रहे हैं। और आप त्सोम्गो लेक का बेहतरीन नजारा देखने का सोच रहे हैं,तो उससे पहले आप हमारा यह आर्टिकल पढ़ लीजिये। क्योंकी इस आर्टिकल्स में हम आपको त्सोम्गो लेक कैसे जाना है इसके बारे में बताएंगे।

इसे भी पढ़ें: सिक्किम यात्रा कि योजना कैसे बनायें। How to Plan Budget Trip on Sikkim

त्सोमगो लेक (Tsomgo Lake) क्यों फेमस है?

भले ही रंग बदलते लोग आपको अच्छे नहीं लगते हो। लेकिन रंग बदलता पानी और उसके आस पास का खुबसूरत नजारा आपको जरूर अच्छा लगता होगा। त्सोमगो लेक भी हर मौसम में रंग बदलने के लिए जानी जाती है। बात करें यदि ठंड के मौसम की तो इस मौसम में यहां का पानी बर्फ बन जाता है। और गर्मी में लेक के आसपास खूबसूरत से फूल उग जाते हैं। सिक्किम में रहने वाले लोग इसे पवित्र लेक भी मानते हैं।

लोगों का कहना है कि इसका पानी कई औषधीय गुणों से भरा हुआ है। और इस पानी में नहाने से गंभीर से गंभीर बीमारी भी ठीक हो जाती है। सिक्किम के रहवासी यहां पर पूजा करने आते हैं। भारतीय डाक विभाग में इस  झील के नाम पर एक टिकट भी जारी की है यहां के लोग इस लेक के पीछे के बनने की कहानी के बारे में बताते हुए कहते हैं कि बहुत टाइम पहले यहां पर न तो कोई झील थी। ना ही कोई भी पानी का स्रोत था।

यहां पर सिर्फ एक घाटी हुआ करती थी। जहां पर लोग अपने जानवरों को चराने आते थे। एक दिन किसी चरवाहे के सपने में एक बूढ़ी औरत ने आकर दर्शन दिए। बूढी औरत ने उस चरवाहे से कहा कि वह कल से उस जगह को खाली कर दें। क्योंकि उस जगह बहुत बड़ी झील बनने वाली है। चरवाहे ने जब यह बात अपने दोस्तों को बताई तो उसके दोस्तों ने उसपर भरोसा नहीं किया। चरवाहा तो चला गया दूसरे दिन लेकिन उसके दोस्त वही रुक गए। दूसरे दिन शाम को उसे जगह पर बहुत बड़ी पानी की झील बन गई और चरवाहे के सारे दोस्त उसमें डूब गए।

तभी से इस झील को बहुत माना जाता है। त्सोंगमो झील में रंग-बिरंगे सजे हुए याक और खच्चरों की सवारी करना न भूलें। इस झील के पास कई चाय के स्टॉल हैं जहां आपको खाने-पीने की चीजें भी मिल जाएंगी। इसके साथ ही आप यहां घूमने के लिए स्नो शूज और गम बूट्स भी ले जा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: किसी स्वर्ग से कम नहीं है पश्चिमी सिक्किम के ये 6 प्रमुख पर्यटन स्थल – Tourist places to visit in West Sikkim

त्सोमगो लेक के लिए परमिट –

त्सोमगो लेक जानें से पहले यह जान लें यहां जाना इतना भी आसान नहीं है। इसके लिए आपको परमिट की जरूरत पड़ती है।आपको परमिट के लिए 2 पासपोर्ट साइज फोटो और वोटर आईडी कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस लगेगा। जिसे आपको 200 के साथ टूरिजम डिपार्टमेंट में जमा करना है।

कैसे जाएं त्सोमगो लेक (How to reach Tsomgo lake)

फ्लाइट (Via Flight)

त्सोमगो लेक जाने के लिए आपको पकयोंग  एयरपोर्ट के लिए फ्लाइट पकड़नी होगी। इसके लिए आपको दिल्ली या कोलकाता से फ्लाइट पकड़नी होगी।दिल्ली से पकयोंग के लिए फ्लाइट 06:20 पर है, जो सिर्फ 02 h 50 m में आपको पकयोंग एयरपोर्ट पर उतार देगी। इसका किराया 4,990 है।

यदि आप कोलकाता से फ्लाइट पकड़ना चाहते हैं,तो कोलकाता से  पकयोंग एयरपोर्ट के लिए फ्लाइट का किराया 3000 रुपये है। इसके साथ ही आप दिल्ली और कोलकाता से बागडोगरा एयरपोर्ट के लिए फ्लाइट्स पकड़ सकते हैं,जो सिक्किम की राजधानी गंगटोक से करीब 124 किमी की दूरी पर है।

इस एयर पोर्ट से आगे की यात्रा आप पब्लिक ट्रांसपोर्ट से कर सकते हैं। यहाँ से यदि आप टैक्सी पकड़ते हैं, तो 4 +1 का आपको 3000 रुपये का चार्ज आएगा। और यदि आप 6+1 टैक्सी लेते हैं। तो आपको 5000 रूपए का किराया आएगा। आप पब्लिक ट्रांसपोर्ट भी यूज कर सकते हैं,इसमें आपको 300 रुपये पर पर्सन खर्च आएगा। 

ट्रेन (Via Train)

आप ट्रेन के जरिये सिक्किम जाना चाहते हैं। तो आप न्यू जलपाईगुड़ी रेलवे स्टेशन के लिए ट्रेन पकड़ सकते हैं। यहाँ से गंगटोक की दुरी 115 किलोमीटर है। आप पब्लिक ट्रांसपोर्ट के जरिये गंगटोक 300 रुपये में पहुंच जायेंगे। 

सकड़ मार्ग (Via Road)

दार्जीलिंग, सिलिगुड़ी और कलीमपोंग शहरों से गंगटोक अच्छी तरह जुड़ा है। नजदीकी स्थानों जैसे सिलिगुड़ी, दार्जीलिंग, कलीमपोंग और करसेयोंग से गंगटोक के लिए बस पकड़ सकते हैं।वैसे बस से यात्रा का समय थोड़ा ज्यादा है लेकिन इसमें आपकी बचत हो सकती है। यहाँ से आपको 300 रुपये तक का खर्च आएगा।

गंगटोक में कहां रुकें (Where to stay in Gangtok)?

आप फ्लाइट से जाएं ट्रेन से जाएं या फिर बस के थ्रू जाएं आपको त्सोमगो लेक जाने के लिए सबसे पहले गंगटोक जाना होगा। आप कैब या पब्लिक ट्रांसपोर्ट से गंगटोक पहुंचेंगे। गंगटोक में आपको 1 हजार रुपए से ₹6000 तक की रेंज में अच्छी होटल और होमस्टे मिल जाएंगे। जहां आप आराम से रख सकते हैं।

यहां हम आपको कुछ अच्छे होटल के बारे में बताने जा रहे हैं। जहां आप आराम से रह सकते हैं।

गंगटोक में रुकने की जगह

ताराज़ अर्बन होमस्टे

यदि आपका बजट 1 हजार रुपए से 1500 रुपए तक का है। तो आप गंगटोक में ताराज़ अर्बन होमस्टे में रुक सकते हैं।यहां पर आपको सारी फैसिलिटी मिल जायेगी।

होटल ग्रीन पार्क 

होटल ग्रीन पार्क भी गंगतोक की कम बजट और अच्छी सुविधा वाली होटल में से एक है। यहां पर 1 दिन के आपको 845 देने होंगे।

दा ग्रिफोन नेस्ट

 1 हजार से ₹1200 में  रुकने के लिए दा ग्रिफोन नेस्ट भी अच्छी होटल है। यहां पर आपको सारी फैसेलिटीज मिल जाएगी। साथ ही आपको खाना होटल में ही खाना है।उसकी भी यहां पर अच्छी व्यवस्था है।

माउंट प्लेजेंट गेस्ट हाउस

माउंट प्लेजेंट गेस्ट हाउस भी सबसे सस्ते और अच्छे होटल्स में से एक है। यहां पर रुकने का एक दिन का किराया 1200 रुपए है।

होटल साईकृपा

होटल साई कृपा भी आपको 1 हजार रुपए की रेंज में बेस्ट फैसिलिटी देता है। आप यहां पर आराम से रह सकते हैं।

गंगटोक से त्सोमगो लेक कैसे जाएं

गंगटोक से त्सोमगो लेक 40 किलोमीटर है। आप यहां पर जाने के लिए टैक्सी कर सकते हैं। इसमें आपको पर पर्सन 700 रुपए तक का खर्च आएगा।आपको गंगटोक में कहीं से भी त्सोमगो लेक जाने के लिए टैक्सी मिल जायेगी। यदि आप त्सोमगो लेक के साथ साथ नाथुला दर्रा भी घूमना चाहते हैं,तो आपको टैक्सी या कैब का किराया 1000  रुपये प्रति व्यक्ति आएगा। फुल टैक्सी आपको 6000 रुपये में मिल जाएगी। इसके बाद आपको वापस गंगटोक में ही आकार रुकना है।

त्सोमगो लेक के लिए बजट

त्सोमगो लेक जाने में आपको पर पर्सन 10 से 12 हजार का खर्च आएगा।उसके साथ ही आप पूरा सिक्किम घूमेंगे तो आपको 20 से 25 हजार का खर्च आएगा।

त्सोमगो लेक किस मौसम में जाए

त्सोमगो लेक जानें का यात्रा का सबसे अच्छा समय अप्रैल और जून और सितंबर और नवंबर के बीच है,जब मौसम सुहावना होता है और झील तक पहुंचा जा सकता है।

इसे भी पढ़ें: 7 Tourist places in east Sikkim – पूर्वी सिक्किम में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हमने आपको त्सोमगो लेक जाने की पूरी डिटेल्स दे दी है। हम यह उम्मीद  करते हैं की, आप एक बार इस खुबसूरत लेक को देखने जरुर जायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

इस बार 2023 का आगाज सिक्किम कि इन खूबसूरत वादियों के साथ। पूर्वी सिक्किम में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल गुरूडोंगमर झील – सिक्किम की शान और पर्यटकों की जान है नाथुला पास – सिक्किम जाने से पहले इन बातों का ध्यान में रखे नार्थ इंडिया में घूमने वाले 9 प्रमुख पर्यटन स्थल