रानीखेत में घूमने के लिए ये हैं 10 सबसे अच्छी जगह | Ranikhet trip

Ranikhet trip

वैसे तो भारत के प्रत्येक राज्य में एक से एक शानदार जगह है, जहां आप घूमने के लिए जा सकते हैं। लेकिन आज हम आपको उत्तराखंड के शहर रानीखेत के बारे में बताएंगे। यहां घूमने के लिए धार्मिक स्थल तो हैं ही, इसी के साथ-साथ आपको कई अन्य पर्यटक स्थल भी देखने को मिलेंगे। 

रानीखेत उत्तराखंड के सबसे प्रसिद्ध और प्राचीन पर्यटक स्थलों में से एक है। अगर आप अकेले या फिर परिवार के साथ शानदार जगह घूमना चाहते हैं, तो रानीखेत आपको जरूर घूमना चाहिए। चलिए इस आर्टिकल के माध्यम से रानीखेत में घूमने के लिए सबसे प्रसिद्ध जगह कौन-कौन सी है, विस्तार से जान लेते हैं।

रानीखेत के बारे में संपूर्ण जानकारी – Ranikhet Traveling Details in Hindi

जगह का नामरानीखेत
राज्य का नामउत्तराखंड
कुल क्षेत्र1869 मी (6,132 फीट)
किस लिए प्रसिद्ध हैझूला देवी मंदिर एवं अन्य धार्मिक स्थल के कारण
घूमने का सही समयअक्टूबर और नवंबर 
कैसे पहुंचेबस, ट्रेन और हवाई जहाज सभी रास्ते हैं।

रानीखेत का इतिहास – Ranikhet History in Hindi

Ranikhet History in Hindi
Ranikhet History in Hindi: Image source

उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले में समुद्र तल से 6000 किलोमीटर की ऊंचाई पर रानीखेत स्थित है। यह झूला देवी पर्वत श्रृंखला का भाग है। यह गगास नदी के तट पर बसा हुआ एक खूबसूरत शहर है। इसे पर्यटकों की नगरी भी कहा जाता है। यहां पर सबसे अधिक पर्यटक (Tourists) आते हैं। यहां से आप हिमालय की सुंदर पर्वत श्रृंखलाओं को देख सकते हैं।

रानीखेत को पहले झूला देवी और आकलैंड हिल्स के नाम से जाना जाता था। प्राचीन समय में रानीखेत पर कत्यूरी राजवंश का शासन था। उसी के शासनकाल में रानीखेत शब्द की उत्पत्ति हुई थी। 

इसे भी पढ़ें: औली का इतिहास, संस्कृति, और घूमने वाले प्रमुख पर्यटन | Travel in Auli Uttarakhand

रानीखेत में क्या खास है – Why Ranikhet is Most Famous

रानीखेत उत्तराखंड का एक प्रसिद्ध शहर है, जिसे टूरिस्ट प्लेस भी कहा जा सकता है। यहां पर हर साल लाखों पर्यटक घूमने के लिए आते हैं। रानीखेत धार्मिक स्थलों और मंदिरों के कारण काफी प्रसिद्ध है। इसके अलावा यहां पर घूमने के लिए अन्य Tourist Places भी हैं। 

रानीखेत का एडवेंचर पार्क, गोल्फ ग्राउंड, चौबटिया गार्डन और झूला देवी मंदिर काफी ज्यादा प्रसिद्ध है। चलिए एक-एक करके अब रानीखेत के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेते हैं।

रानीखेत में घूमने की प्रसिद्ध जगह – Famous Places to Visit in Ranikhet

रानीखेत उत्तराखंड का काफी प्रसिद्ध टूरिस्ट प्लेस है, जहां प्रकृति सौंदर्य को देखने के लिए दूर दूर से पर्यटक आते हैं। चलिए हम आपको कई ऐसी जगहों के बारे में बता देते हैं, जो रानीखेत में सबसे ज्यादा प्रसिद्ध हैं –

(1) कालिका देवी मंदिर (Kalika Devi Temple) –

रानीखेत के प्रसिद्ध मंदिर में से एक कालिका देवी मंदिर हैl इस मंदिर की स्थापना आठवीं शताब्दी में हुई थी। यह मंदिर काफी ज्यादा प्रसिद्ध है। कुमाऊं क्षेत्र के लोगों की इस मंदिर से काफी गहरी आस्था जुड़ी हुई है। अगर आप रानीखेत जा रहे हैं, तो कालिका देवी मंदिर में दर्शन करने जरूर जाएं। यह मंदिर बहुत अच्छा बना हुआ है। यहां का शांत माहौल आपको काफी ज्यादा पसंद आयेगा।

(2) आशियाना पार्क (Ashiyana Park) –

रानीखेत में स्थित आशियाना पार्क पर्यटकों के लिए काफी अच्छा स्थान है। दरअसल इस पार्क को रानीखेत की जंगल थीम पर बनाया गया है। आशियाना पार्क में अलग-अलग जगह के नजारों को भी दिखाया गया है। 

इस पार्क में हिमालय को भी दिखाया गया है। बच्चों के लिए यहां पर काफी अच्छे और बड़े झूले भी हैं‌। अगर आप रानीखेत घूमने का प्लान बना रहे हैं, तो आशियाना पार्क में अपना समय गुजारने जरूर जाएं।

(3) स्वर्गाश्रम बिन्सर महादेव मंदिर (Swargashram Binsar Mahadev Mandir) –

यह मंदिर रानीखेत से लगभग 18 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह 2480 मीटर की ऊंचाई पर बसा हुआ है। यह मंदिर भगवान शिव जी को समर्पित है। कहा जाता है कि 9वीं और 10वीं शताब्दी में इस मंदिर का निर्माण करवाया गया था। 

रानीखेत आने वाले लोगों के लिए यह सबसे प्रमुख मंदिर माना जाता है। इस मंदिर के चारों ओर का वातावरण काफी अच्छा है। यहां पर हर तरफ हरियाली है। यह मंदिर काफी भव्य बना हुआ है। यह पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करता है।

(4) भालू बांध (Bhalu Dam) –

भालू बांध कृत्रिम झील के कारण जाना जाता है। साल 1903 में ब्रिटिश सरकार के द्वारा भालू बांध का निर्माण करवाया गया था। यह चौबटिया गार्डन से थोड़ी दूर पर स्थित है। अगर आप प्रकृति के सुंदर नजारे देखना चाहते हैं, तो यहां पर आपको जरूर जाना चाहिए। चारों तरफ से हरियाली से घिरा हुआ, यह बांध आपको काफी अच्छा लगेगा।

(5) कुमाऊँ रेजिमेंटल सेंटर (Kumaon Regimental Center) –

कुमाऊँ रेजिमेंटल सेंटर रानीखेत में घूमने के लिए सबसे आकर्षित जगहों में से एक है। यह मुख्य शहर रानीखेत से सिर्फ 1 किलोमीटर की दूरी पर ही स्थित है। यह रेजिडेंशियल सेंटर काफी ज्यादा अद्भुत है। यहां पर युद्ध में इस्तेमाल किए जाने वाले अस्त्र और शस्त्र रखे गए हैं। ऑपरेशन पवन के समय LTTE की एक नांव भी पकड़ी गई थी, जिसे इस म्यूजियम में रखा गया है। पुराने समय में बहुत लोगों को तरह-तरह के हथियार रखने का शौक हुआ करता था। इसलिए यहां पर आपको एक से एक अद्भुत हथियार देखने को मिल जाएंगे।

(6) एडवेंचर पार्क (Adventure Park) –

अगर आप कुछ एडवेंचर करना चाहते हैं, तो रानीखेत के एडवेंचर पार्क में जरूर जाएं। रानीखेत का प्रसिद्ध एडवेंचर पार्क रानी झील के बिल्कुल बराबर में ही बना हुआ है। 

यहां पर पार्क में आपको तरह-तरह की एक्टिविटीज करने का मौका मिल जाएगा, जैसे – बर्मा ब्रिज (Burma Bridge), वाटर बॉल (Water Ball), जोर्बिंग (Zorbing), फ्लाइंग फॉक्स (Flying Fox) इत्यादि। इस एडवेंचर पार्क में एंट्री की कोई भी फीस नहीं रखी गई है। 

जब आप पार्क के अंदर कोई भी एक्टिविटी करना चाहेंगे, तो उसके लिए आपको टिकट खरीदना होगा। जो लोग एडवेंचर करने के शौकीन होते हैं, वो जब भी रानीखेत जाते हैं, तो इस जगह पर घूमने जरूर जाते हैं। 

(7) चौबटिया गार्डन (Chaubatia Garden) –

रानीखेत का Chaubatiya Garden काफी ज्यादा प्रसिद्ध है। इस गार्डन में आपको कई उघान देखने को मिल जाएंगे, जिनमें खुबानी, बलूत, बादाम, सेब और आड़ू के उघान मशहूर हैं। यह आपको चारों तरफ से हरियाली से घिरा हुआ मिलेगा।

यह गार्डन आपको सच में काफी ज्यादा खूबसूरत लगेगा। अगर आप शांत माहौल पसंद करते हैं, तो समय निकालकर इस गार्डन में घूमने के लिए जरूर जाएं।

(8) झूला देवी मंदिर (Jhula Devi Mandir) –

वैसे तो रानीखेत में कई प्रसिद्ध मंदिर स्थित हैं, लेकिन इन प्रसिद्ध मंदिरों में से सबसे ज्यादा झूला देवी मंदिर फेमस है। यह मंदिर रानीखेत से लगभग 5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। झूला देवी मंदिर में मां दुर्गा की पूजा की जाती है।

मां दुर्गा को समर्पित यह मंदिर काफी भव्य है। आठवीं शताब्दी में इस मंदिर का निर्माण करवाया गया था। इस मंदिर की एक परंपरा सदियों से चलती आ रही है। यहां पर भक्त तांबे की घंटी चढ़ाते हैं। इस मंदिर में हर साल दूर-दूर से पर्यटक दर्शन करने के लिए आते हैं।

कहा जाता है कि जो भी व्यक्ति सच्चे मन से मां दुर्गा के सामने प्रार्थना करता है, उसकी सारी इच्छाएं पूरी होती हैं। इस मंदिर की खास बात यह है कि यहां पर आपको दर्शन करने के लिए सिर्फ मंदिर ही नहीं, बल्कि घूमने के लिए अन्य जगह भी मिल जाएंगी।

यहां चारों तरफ लगे बड़े-बड़े पेड़ सच में काफी अच्छे लगते हैं । इसके अलावा पर्यटकों को आराम करवाने के लिए यहां पर Resting Place भी बनाया गया है।

(9) गोल्फ ग्राउंड (Golf Ground) –

वैसे तो एशिया में कई गोल्फ ग्राउंड बने हुए हैं। लेकिन रानीखेत का यह गोल्फ ग्राउंड एशिया का सबसे बड़ा प्राकृतिक गोल्फ ग्राउंड है। यहां पर स्थित देवदार के वृक्ष और हरी-भरी घास सच में आपका मन मोह लेगी।

रानीखेत के बस स्टैंड से यह लगभग 5 किलोमीटर की दूरी पर बना हुआ है। हर वर्ष यहां पर घूमने के लिए भारत से ही नहीं, बल्कि विदेशों से भी पर्यटक आते हैं। अगर आप रानीखेत जा रहे हैं, तो गोल्फ ग्राउंड जाना बिल्कुल भी ना भूलें।

(10) रानी झील (Rani Lake) –

रानी झील को रानीखेत की छावनी परिसर के द्वारा स्थापित किया गया है। रानीखेत के बस स्टैंड से यह 1.5 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। रानी झील एक तरह की कृत्रिम झील है। लेकिन जब आप यहां पर आएंगे तो यह झील आपको प्राकृतिक झील लगेगी। 

झील देखने के अलावा यहां पर आप पानी से संबंधित एक्टिविटी भी कर सकते हैं। अगर आपको बोट में सवारी करना पसंद है, तो यह फैसिलिटी भी आपको यहां पर मिल जाएगी। बच्चों के लिए यहां पर कई प्रकार के झूले भी लगे हुए हैं। 

रानीखेत घूमने में कितना खर्चा आएगा – Ranikhet Traveling Expenses 

Famous Places to Visit in Ranikhet

अगर आप रानीखेत घूमने का प्लान बना रहे हैं, तो यह आप पर निर्भर करता है कि आप कितना खर्च करने वाले हैं।

अगर आप बस या ट्रेन से जाएंगे, तो आपका खर्चा कम होगा। यदि आप अपने राज्य से उत्तराखंड में हवाई जहाज के माध्यम से आएंगे, तो आपको आने जाने का ही काफी किराया महंगा पड़ जाएगा।

बाकी रानीखेत घूमने का खर्चा इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप कहां-कहां घूमने जाते हैं। किस होटल में रुकते हैं। अगर आप सामान्य सस्ते होटल में रुकते हैं और रानीखेत घूमने के लिए पब्लिक बस या ट्रेन का इस्तेमाल करते हैं, तो आपका खर्चा काफी कम आएगा। इसके लिए आपका खर्च ₹4000 से लेकर ₹8000 प्रति व्यक्ति तक हो सकता है। 

रानीखेत घूमने का सही समय क्या है – Best Time to Visit Ranikhet

अगर आप रानीखेत जाना चाहते हैं, तो गर्मियों के मौसम में रानीखेत घूमने का प्लान बनाएं। गर्मियों के मौसम में यहां घूमने के लिए काफी Tourists आते हैं। गर्मियों के मौसम में यहां का वातावरण ज्यादा सुहावना लगता है।

रानीखेत में कहां रुके – Where to Stay in Ranikhet

अगर आप रानीखेत घूमने के लिए जा रहे हैं, तो आप बिना टेंशन के रानीखेत में रुक सकते हैं। यहां पर आपको कई धर्मशालाएं और होटल सस्ते में मिल जाएंगे, जहां पर आप रात के समय रुक सकते हैं।

इसके अलावा आप रानीखेत जाने से पहले ऑनलाइन होटल की बुकिंग भी करवा सकते हैं। यहां पर आपको  ₹800 से ₹1000 तक में शानदार रूम मिल जाएगा। ऑनलाइन रूम बुकिंग के अलावा जब आप रानीखेत पहुंचेंगे, तो रानीखेत पहुंचकर भी आप ऑफलाइन बुकिंग करवा सकते हैं। यहां पर बुकिंग के काफी सारे ऑप्शन उपलब्ध हैं।

इसे भी पढ़ें : स्विट्जरलैंड से कम नहीं है उत्तराखंड का चोपता हिल स्टेशन | Travel in Chopta Uttarakhand

रानीखेत जाएं – How To Reach Ranikhet

सड़क मार्ग से (By Road) – 

अगर आप रानीखेत का ट्रिप प्लान करना चाहते हैं, तो आप सड़क के रास्ते से जा सकते हैं। दिल्ली व अन्य कई जगह ऐसी हैं, जहां से आपको सीधा रानीखेत के लिए बस मिल जाएगी। अगर आपको आपके राज्य से या फिर शहर से सीधी बस नहीं मिल रही है, तो आप दिल्ली आ सकते हैं। वहां से आपको रानीखेत के लिए सीधी बस मिल जाएगी।

ट्रेन से (By Train) – 

अगर आप ट्रेन से रानीखेत जाना चाहते हैं, तो जा सकते हैं। लेकिन रानीखेत में कोई भी रेलवे स्टेशन उपलब्ध नहीं है।‌ आपको काठगोदाम तक रेल से जाना होगा। जहां से आगे आपको पर्सनल टैक्सी, बस या फिर कोई भी अन्य वाहन मिल जाएगा। वहां से आप आसानी से रानीखेत जा सकते हैं।

हवाई जहाज से (By Helicopter) – 

रानीखेत घूमने जाना चाहते हैं, तो आप हवाई जहाज से भी जा सकते हैं। रानीखेत से लगभग 100 किलोमीटर पहले ही पंतनगर एयरपोर्ट पड़ता है। अगर आप हवाई जहाज से वहां जाते हैं, तो आपको इसी एयरपोर्ट पर उतरना होगा। फिर वहां से आप पर्सनल टैक्सी, बस या अन्य वाहन का इस्तेमाल करके रानीखेत तक जा सकते हैं।

रानीखेत से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न – FAQ

प्रश्न – हरिद्वार से रानीखेत जाने में कितना समय लग सकता है?

उत्तर – हरिद्वार से रानीखेत जाने में लगभग 6 घंटा 45 मिनट का समय लगता है।

प्रश्न – रानीखेत घूमने के लिए कितने दिन चाहिए?

उत्तर – रानीखेत घूमने के लिए कम से कम तीन दिन तो आपके पास होने चाहिए।

प्रश्न – रानीखेत और नैनीताल में से कौन सी जगह ज्यादा अच्छी है?

उत्तर – रानीखेत और नैनीताल दोनों ही जगह काफी ज्यादा अच्छी है। इनकी खूबसूरती की वजह से ही हर साल पर्यटक यहां घूमने के लिए आते हैं।

प्रश्न – रानीखेत का पुराना नाम क्या था?

उत्तर – रानीखेत का पुराना नाम रानिक था।

प्रश्न – रानीखेत में बर्फ कब पड़ती है?

उत्तर – दिसंबर, जनवरी और फरवरी में रानीखेत में बर्फ पड़ती है।

निष्कर्ष (Conclusion) –

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको रानीखेत का इतिहास, खास चीजें, और रानीखेत की फेमस जगह के बारे में बताया है। इसके अलावा रानीखेत कैसे जाएं, जाने का सही समय क्या है, कहां आपको रुकना है और रानीखेत घूमने के लिए कितना खर्चा आएगा, यह सारी जानकारी भी हमने आपको विस्तार से दी है।

उम्मीद करते हैं, अब आपको रानीखेत जाने में कोई भी परेशानी नहीं होगी। इस पोस्ट को अन्य लोगों के साथ भी शेयर करें, ताकि उन्हें भी इस खूबसूरत जगह के बारे में जानकारी मिल सके।

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कैंची धाम – नीम करोली बाबा से अनसुलझे जुड़े रहस्य। उत्तराखंड में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल ऋषिकेश कि बजट ट्रिप कैसे प्लान करें हरिद्वार में फ्री धर्मशाला कैसे ढूढ़े