औली का इतिहास, संस्कृति, और घूमने वाले प्रमुख पर्यटन | Travel in Auli Uttarakhand

Auli Uttarakhand complete travel guide on hindi
Auli Uttarakhand complete travel guide on hindi

औली भारत के उत्तराखंड के चमोली जिले में बसा हुआ एक ऐसा हिल स्टेशन है, जो एडवेंचर, कैंपिंग, स्कीइंग के लिए दुनिया भर में Famous है। इसे औली बुग्याल (Auli Bugyal) भी कहा जाता है। यह Place उन लोगों के लिए बहुत ही शानदार है, जिन्हें ऊंची ऊंची पर्वत की चोटियां और हरियाली पसंद होती है। फिर चाहे गर्मी हो या सर्दी Adventure Lovers के लिए यह एक बहुत ही रोमांचक जगह है। समुद्र तल से लगभग 2800 मीटर की ऊंचाई पर बना हुआ यह Hill Station स्वर्ग के जैसा है। 

‌अगर आप भी इस स्वर्ग जैसे सुंदर पर्यटन स्थल (Tourist Place) की यात्रा Plan करना चाहते हैं तो आपको इसके बारे में सारी जानकारी होनी चाहिए। आज की इस पोस्ट Auli Travel Guide में हम आपको औली के बारे में सारी जानकारी देंगें। 

औली का इतिहास क्या है (History of Auli in Hindi) –

History of Auli in Hindi
History of Auli in Hindi: Image Source

यदि हम बात करें औली के इतिहास की तो इसका इतिहास तकरीबन आठवीं शताब्दी का है। कई मान्यताओं के अनुसार इस स्थान पर गुरु आदि शंकराचार्य ने भ्रमण किया था। अपने दौरे के समय उन्होंने Auli को अपना आशीर्वाद भी दिया था। इस Place पर बना हुआ Famous जोशीमठ मंदिर उन्होंने ही बनवाया था। इसके अलावा 1993 ई. में रस्सी का संचालन किया गया था, जो कि Asia की सबसे लंबी Ropeway है। बाद में इस जगह पर भारत तिब्बत-पुलिस बल को Training देने के लिए भी इस्तेमाल किया गया था। 

जब से उत्तराखंड एक अलग राज्य बना है तब से औली को पूरे World में एक नई पहचान मिली है। इस जगह को लोग स्कीइंग के लिए ज्यादा जानते हैं। 

औली से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण पॉइंट्स –

हिल स्टेशन का नामऔली (उत्तराखंड)
कहां पर हैउत्तराखंड राज्य के चमोली जिले में 
समुद्र तल से ऊंचाई2800 मीटर 
कौन से मौसम में घूमने जाएंसाल भर जाया जा सकता है लेकिन बरसात के दिनों में ना जाना ही सही है।
क्या-क्या देखेंचिनाब झील, जोशीमठ,  आर्टिफिशियल लेक, नंदा देवी, सोलधार तपोवन, त्रिशूल पर्वत, छत्रा कुंड, संजीवनी शिखर
की जाने वाली एक्टिविटीजऔली रोपवे, स्कीइंग, ट्रैकिंग, कैंपिंग, फोटोग्राफी 
कहां ठहरेरिजॉर्ट, हट्स, कॉटेज और होटल 
फेमस फूडकाफुली, भांग की चटनी, फानू, बाड़ी, कंडाली का साग, चैनसू 
यात्रा में आने वाला खर्चा5,000 रुपए से शुरू 
बोली जाने वाली भाषाएंहिंदी और गढ़वाली 
किस लिए फेमस है स्कीइंग के लिए

इसे भी पढ़ें: चोपता (chopta uttarakhand) का इतिहास, संस्कृति, घूमने का सही समय, बजट और प्रमुख पर्यटन स्थल। Chopta Complete Travel Guide In Hindi

औली की संस्कृति (Culture of Auli) –

औली हिल स्टेशन की सीमा तिब्बत और नेपाल से लगी हुई है। इसी वजह से यहां की संस्कृति में नेपाल, तिब्बत और गढ़वाल परंपराओं का सुंदर मिश्रण देखने को मिलता है। इस स्थान पर भोटिया की खानाबदोश जनजाति ने सबसे पहले अपना घर बनाया था। इस क्षेत्र में ज्यादातर रहने वाले लोग हिंदू हैं। 

औली के त्यौहार (Festivals of Auli) –

औली हिल स्टेशन में मनाए जाने वाले कुछ Famous Festivals निम्नलिखित हैं – 

  • बसंत पंचमी (Basant Panchmi)
  • बद्री केदार महोत्सव (Badri Kedar Festival)
  • मकर संक्रांति (Makar Sankranti)
  • महाशिवरात्रि (Mahashivratri)
  • कार्तिक पूर्णिमा (Kartik Poornima)

औली का रहन सहन (Lifestyle of Auli) –

औली के लोग ज्यादातर खेती बाड़ी करते हैं और पशु पालते हैं। इसके अलावा यहां पर बढ़ते हुए Tourism की वजह से भी इस क्षेत्र में लोगों को काम करने का मौका मिला है। साथ ही यहां के रहने वाले लोग लकड़ियों की कलाकृतियां, ऊनी वस्त्र, मनके के आभूषण बनाने में काफी निपुण होते हैं। 

औली की पारंपरिक वेशभूषा (Traditional Dress of Auli) –

औली की महिलाएं आमतौर से साड़ी पहनती हैं और उसके साथ में पूरी बाजू वाली Shirt पहनती हैं। सर्दियों के मौसम में महिलाएं ऊनी जैकेट पहनती हैं। वहीं औली के पुरुष कुर्ता और पाजामा पहनते हैं। जब सर्दियां आती है तो तब जैकेट, सदरी और टोपी पहनते हैं।

औली का नृत्य (Dance of Auli) –

औली क्योंकि उत्तराखंड के चमोली जिला में है, इसलिए इस क्षेत्र में Uttrakhand राज्य के नृत्य की झलक दिखाई पड़ती है, जोकि निम्नलिखित हैं –

  • बरदा नाटी 
  • लंगविर नृत्य
  • पांडव नृत्य
  • शोतिया आदिवासी लोक नृत्य
  • छोपाटी
  • चौंफुला
  • झुमैला 

औली का खानपान (What is the Famous Food of Auli) –

औली हिल स्टेशन उत्तराखंड में स्थित है, इसलिए यहां के व्यंजनों में Uttrakhand की झलक साफ दिखाई देती। Auli Hill Station के कुछ Famous Foods निम्नलिखित इस तरह से हैं – 

चैनसू (Chainsoo) :-

औली में चैनसू डिश काफी Famous है। यह यहां का एक गढ़वाली व्यंजन है। इसे काली दाल और उड़द को मिलाकर तैयार किया जाता है। यह व्यंजन स्वादिष्ट होने के साथ-साथ पौष्टिकता से भी भरपूर होता है। 

बाड़ी (Badi) :-

बाड़ी डिश औली में काफी Popular है। लोगों को न केवल इसका स्वाद बहुत भाता है, बल्कि इसके अंदर बहुत सारे पोषक तत्व भी होते हैं। इस वजह से ही Auli  में इसे बहुत ही चाव से खाया जाता है। इसको काले रंग की कुवाड़ा की काटा से Ready किया जाता है। ‌ आमतौर पर इसे फानू के साथ खाया जाता है, जिससे यह Dish और भी ज्यादा Tasty लगती है। 

फानू (Phanu) :-

फानू को कई दालों को मिलाकर तैयार किया जाता है। इसे बनाने से पहले बहुत सारी दालों को रात भर भिगोकर पहले इसकी स्मूदी Ready की जाती है। आमतौर पर इसे चावल के साथ खाया जाता है। इसका स्वाद काफी अनोखा होता है और एक बार खाने के बाद आप इसे दोबारा जरूर खाएंगे। 

काफुली (Kafuli) :-

औली उत्तराखंड में काफुली को भी लोग बहुत चाव से खाते हैं। यह यहां का Traditional Food है, जिसको पालक और मेथी के साथ पकाया जाता है। इसके अंदर कई तरह के नमक और मसाले भी डाले जाते हैं। गेहूं या फिर चावल की ग्रेवी के साथ इस Dish को खाया जाता है। 

झंगोरा की खीर (Jhangora Ki Kheer) :-

औली उत्तराखंड में यह मीठी डिश काफी Famous है। यह एक मिठाई है, जिसको तैयार करने के लिए झंगोरा का उपयोग किया जाता है। झंगोरा एक तरह से बाजरे के जैसा होता है। इसके अंदर चीनी, दूध और दूसरे मसाले मिलाकर इसे खीर की तरह Ready किया जाता है। यदि आप मीठा खाने के शौकीन हैं तो आपको इस मिठाई को जरूर खाना चाहिए। 

इन Famous Dishes के अलावा औली में निम्नलिखित खानों का भी आनंद लिया जा सकता है – 

  • कंडाली का साग (Kandali Ka Saag)
  • भांग की चटनी (Bhang Ki Chatni) 
  • फन्नाह (Fannah) 
  • डबूक (Dabook) 
  • दाल भात (Daal Bhat) 
  • अरसा (Arsa) 
  • भुटवा (Bhutwa) 
  • गुलगुला (Gulgula) 
  • रास (Raas) 

औली से जुड़े कुछ रोचक तथ्य (Interesting Facts About Auli) –

  • औली समुद्र तल से लगभग 3000 मीटर की ऊंचाई पर है और इसकी प्राकृतिक खूबसूरती की वजह से इसे भारत का मिनी स्विट्जरलैंड कहते हैं। 
  • यह Hill Station बद्रीनाथ के रास्ते में है और यहां पर Asia की सबसे लंबी Cable Car है, जिसमें बैठकर पर्यटक (Tourists) प्राकृतिक दृश्य का मजा ले सकते हैं।
  • औली में बर्फ से ढकी हुई चोटियों के नजारे तो मनोरम होते ही हैं, साथ ही साथ यहां पर देवदार और चीड़ के पेड़ भी इस क्षेत्र को काफी अद्भुत बनाते हैं। 

औली जाने का सबसे अच्छा समय (Best Time to Visit Auli Uttarakhand) –

औली एक ऐसा Hill Station है, जहां पर आप गर्मियों में और सर्दियों में जा सकते हैं। वैसे Auli घूमने का प्लान बनाने का सबसे अच्छा समय गर्मियों में April के महीने से लेकर June के महीने तक होता है। वहीं सर्दियों में October के महीने से लेकर February के महीने तक Auli घूमने जाया जा सकता है। औली दुनिया भर में स्कीइंग के लिए प्रसिद्ध है और यहां पर January से लेकर March तक Skiing Festival होता है। ऐसे में आप इस जगह पर जाने के लिए अपना Trip Plan कर सकते हैं। 

औली में घूमने लायक जगह (Best Places to visit in Auli) –

औली में अनेकों ऐसी जगहें हैं, जहां पर आप घूमने जा सकते हैं। यहां हम Auli में घूमने वाली कुछ बेहतरीन जगह के बारे में बता रहे हैं, जोकि इस तरह से हैं –

(1) नंदा देवी (Nanda Devi) :-

नंदा देवी एक बहुत ही ऊंचा हिल स्टेशन है। यह लगभग 7817 मीटर की ऊंचाई पर है, जोकि भारत के सबसे ऊंचे Hill Stations में से है। यहां पर नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान भी बना हुआ है, जहां पर प्रकृति की सुंदरता चारों ओर बिखरी हुई है। यहां पर बने हुए ऊंचे ऊंचे पेड़ आपको चकित कर सकते हैं। देवदार, शंकुधारी, पहाड़ी घास, ओक की खूबसूरती देखते ही बनती है। खासतौर से शाम के वक्त जब सूरज छिपता है तो उसकी किरणें जब इस पर पड़ती है तो यह बिल्कुल सोने की तरह चमकता है। इसी वजह से इस स्थान को विश्व यूनेस्को की धरोहर भी घोषित किया गया है। 

(2) जोशीमठ (Joshimath) :-

जोशीमठ एक बहुत ही जाना माना तीर्थ स्थल है। यहां पर कई मंदिर बने हुए हैं। ऐसा कहा जाता है कि यहां पर आदि गुरु शंकराचार्य ने चार पिठों में से एक को स्थापित किया था। इस स्थान पर बने हुए मंदिरों में सबसे ज्यादा नर्सिंग मंदिर प्रसिद्ध है। वे लोग जो बद्रीनाथ जाते हैं वे इस स्थान पर विश्राम करते हैं। इस तरह से कहा जा सकता है कि यह तीर्थ यात्रियों के लिए एक आराम करने की जगह है। 

(3) गोरसन बुग्याल (Gorson Bugyal) :-

गोरसन बुग्याल बेहद मनोरम स्थान है, जो समुद्र तल से तकरीबन 3056 मीटर की ऊंचाई पर बना हुआ है। यह जगह शंकुधारी पेड़ों से गिरी हुई है, जो इसको काफी आकर्षक बनाता है। यहां से आसपास का नजारा काफी लुभावना दिखाई पड़ता है। औली से Trekking करते हुए 3 किलोमीटर की दूरी तय करके आप इस Place तक पहुंच सकते हैं। 

(4) चिनाब झील (Chenab Lake) :-

जोशीमठ के पास यह एक छोटी सी क्रिस्टलीय पानी वाली झील है। इसकी अद्भुत सुंदरता के कारण पर्यटक इसकी तरफ बहुत ज्यादा आकर्षित होते हैं। इस Lake को देखने के लिए आपको काफी ऊंची चढ़ाई चढ़नी पड़ेगी। एक बार आप इस Lake तक पहुंच गए तो आप इसकी सुंदरता में और मनोरम दृश्य को देखने में खो जाएंगे। 

(5) रुद्रप्रयाग (Rudraprayag) :-

रुद्रप्रयाग अलकनंदा नदी के पांच संगमों में से एक है, जोकि मंदाकिनी और अलकनंदा नदियों को मिलाने वाला Point है। यह स्थान बहुत ज्यादा भीड़ वाला है, क्योंकि यह केदारनाथ और बद्रीनाथ मंदिरों के काफी नजदीक है। इसके पास बहुत से मंदिर बने हुए हैं, जैसे कि चामुंडा देवी मंदिर, रुद्रनाथ मंदिर इत्यादि। Auli की यात्रा करते समय आपको इस जगह को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। यहां पर बहुत शांति और सुकून मिलता है। 

(6) छत्रा कुंड औली (Chattrakund Lake) :-

यह जगह घने जंगलों के बीच में है और इसी वजह से यहां पर पर्यटक भारी मात्रा में आकर्षित होते हैं। औली की यह जगह प्रकृति की खूबसूरती से भरी हुई है और इसलिए जब भी कोई Tourist इस Place पर जाता है तो उसे एक अलग ही तरह का Experience होता है। ऐसे लोग जिन्हें पेड़ पौधे पसंद होते हैं उनके लिए यह जगह जन्नत से कम नहीं। 

(7) विष्णुप्रयाग (Vishnuprayag) :-

उत्तराखंड के चमोली जिले में बना हुआ विष्णुप्रयाग एक बेहद Attractive Tourist Place है। यह समुद्र तल से तकरीबन 1372 मीटर की ऊंचाई पर बना हुआ है। इस Place की विशेषता यह है कि यहां पर एक बहुत ही प्रसिद्ध विष्णु मंदिर बना हुआ है, जिसको इंदौर की महारानी ने सन् 1889 ई. में बनवाया था। इस स्थान को और भी सुंदर बनाता है नदियों का संगम, जो देखने में काफी अनोखा लगता है। 

इन Famous Places के अलावा आप औली में निम्नलिखित जगहों पर भी घूम सकते हैं –

  • नंदप्रयाग (Nandprayag)
  • औली कृत्रिम झील (Auli Artificial Lake)
  • भव्य बद्री (Bhavya Badri) 
  • सोलधार तपोवन (Saildhar Tapovan) 
  • त्रिशूल पीक (Trisul Mountain)
  • फूलों की घाटी 
  • संजीवनी शिखर (Sanjeevani Shikhar)

इसे भी पढ़ें: Kedarnath yatra full information | केदारनाथ यात्रा की सम्पूर्ण जानकारी।

औली में रुकने की जगहें (Best Places to Stay in Auli) –

Hotels in Dehradun: Top hotels

HotelStarsDiscountPrice before and discountSelect dates
Effotel By Sayaji Dehradun★★★★-9%3 740 3 418 View hotel
Treebo Tryst Pearl Avenue Ring Road★★★★-5%3 740 3 539 View hotel

यदि आप औली घूमने जा रहे हैं तो इस जगह पर आपको बहुत से Resorts और Hotels रहने के लिए मिल जाएंगे। लेकिन अगर Season के समय आप Auli की यात्रा प्लान कर रहे हैं तो ऐसे में बेहतर होगा कि आप पहले से ही अपने रुकने की जगह Book कर लें। इस तरह से आपको फिर Auli में ठहरने के लिए कोई Problem नहीं होगी। 

औली कैसे (How to Reach Auli) –

औली पहुंचने के लिए सभी तरह के यातायात का पूरा इंतजाम है। इसलिए आप अपनी इच्छा से किसी भी Transport से Travel कर सकते हैं। Auli Hill Station तक पहुंचने के लिए आप निम्नलिखित यातायात के साधनों का इस्तेमाल कर सकते हैं –

सड़क द्वारा (By Road) :- 

अपने राज्य या फिर शहर से आपको बस के माध्यम से जोशीमठ तक पहुंचना होगा। जोशीमठ से Auli लगभग 10 किलोमीटर की दूरी पर है तो इसके लिए आप Ropeway या फिर सड़क मार्ग का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

ट्रेन द्वारा (By Train) :-

यदि आप औली हिल स्टेशन तक रेल का सफर तय करके पहुंचना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे निकटतम स्टेशन Haridwar Railway Station है। यह रेलवे स्टेशन Auli से तकरीबन 273 किलोमीटर की दूरी पर बना हुआ है। इसके अलावा आप देहरादून या फिर ऋषिकेश रेलवे स्टेशन तक पहुंच कर भी औली तक पहुंच सकते हैं। आगे का सफ़र फिर आप Bus पकड़ के कर सकते हैं या फिर आप Taxi किराए पर ले सकते हैं। 

हवाई जहाज द्वारा (By Airplane) :-

अगर आप Auli Hill Station हवाई जहाज से जाना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे करीबी Airport जॉली ग्रांट हवाई अड्डा है। यहां तक पहुंचने के बाद फिर औली के लिए आपको बस या फिर टैक्सी पकड़नी होगी। पहले आपको जोशीमठ तक जाना है और उसके बाद आपको सड़क मार्ग से या फिर Ropeway से औली तक पहुंचना होगा। 

औली घूमने के लिए बजट (Budget to Visit Auli) –

औली हिल स्टेशन घूमने के लिए आपका Budget इस बात के ऊपर Depend करता है कि आप अपनी यात्रा कितने दिन के लिए Plan करना चाहते हैं। वैसे Auli Hill Station घूमने के लिए आपका 5,000 रुपए से लेकर 7,000 रुपए तक का खर्च आ सकता है। आप अपनी जरूरत के हिसाब से अपने बजट में कमी या फिर बढ़ोत्तरी कर सकते हैं। 

औली घूमने के लिए टूर पैकेज (Auli Tour Packages) –

औली घूमने के लिए बेहतर होगा कि आप किसी Travel Company की Help ले लें। ऐसा करने से आपको सही बजट में अलग-अलग Tour Packages मिल जाते हैं। लगभग तीन दिन के लिए आप 5,000 रुपए का ‌Tour Package ले सकते हैं। इसके अलावा आप अपनी मर्जी और जरूरत के हिसाब से जितने चाहें उतने पैसे अपनी यात्रा पर खर्च कर सकते हैं। 

FAQs

Q. औली कहां पर है?

A. औली उत्तराखंड राज्य के चमोली जिले में है। 

Q. औली का मौसम कैसा होता है?

A. औली का मौसम काफी सुहावना होता है। यहां पर अक्टूबर के बाद से सर्दी पड़ने लगती है। दिसंबर से लेकर फरवरी के महीने में यहां पर बहुत बर्फबारी होती है। 

Q. औली में क्या-क्या गतिविधियों की जा सकती हैं?

A. औली में आप स्कीइंग, कैंपिंग, ट्रैकिंग, केवल कार की सवारी जैसी बहुत सी गतिविधियां (Activities) कर सकते हैं। 

Q. क्या औली जाने के लिए बहुत पैसे खर्च करने पड़ते हैं?

A. नहीं औली जाने के लिए बहुत ज्यादा पैसे खर्च करने की जरूरत नहीं है। आप सिर्फ 5,000 रुपए में ही इस खूबसूरत जगह पर घूमने जा सकते हैं। 

Q. औली कैसे जाया जा सकता है? 

A. इसके लिए आप अपने शहर से या फिर अपने राज्य से बस, ट्रेन या फिर हवाई जहाज से सफर कर सकते हैं।

निष्कर्ष (Conclusion) –

इस आर्टिकल में हमने आपको औली से जुड़ी हुई सारी जानकारी (Auli Tourism) दी है। हमने आपको इसमें औली का इतिहास, वहां की संस्कृति घूमने वाली जगहें, त्यौहार, घूमने जाने का सबसे अच्छा समय, औली का खाना आदि के बारे में विस्तार से बताया है। इसके साथ ही हमने आपको औली तक कैसे पहुंचे, औली में रहने की जगह, औली में घूमने का कितना खर्चा आएगा ये भी बता दिया है।

हमें पूरी आशा है कि आपको यह पोस्ट जरूर Helpful लगी होगी। यदि आपको हमारा Auli Travel Guide का यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप इसे सोशल मीडिया पर भी जरूर शेयर करें, Thanks!

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

कैंची धाम – नीम करोली बाबा से अनसुलझे जुड़े रहस्य। उत्तर प्रदेश में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल उत्तराखंड में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल ऋषिकेश कि बजट ट्रिप कैसे प्लान करें हरिद्वार में फ्री धर्मशाला कैसे ढूढ़े
कैंची धाम – नीम करोली बाबा से अनसुलझे जुड़े रहस्य। उत्तर प्रदेश में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल उत्तराखंड में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल ऋषिकेश कि बजट ट्रिप कैसे प्लान करें हरिद्वार में फ्री धर्मशाला कैसे ढूढ़े