मेघालय का इतिहास संस्कृति, और घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल – Meghalaya Travel Guide in Hindi

Meghalaya Travel Guide in Hindi
Meghalaya Travel Guide in Hindi

पहाड़, झरने, झीलें और हरी-भरी वादियां हर व्यक्ति को पसंद होती हैं। अगर आप छुट्टियों में कहीं जाने का मन बना रहे हैं तो मेघालय आपके लिए सबसे अच्छा ऑप्शन हो सकता है। मेघालय (Meghalaya State) में आपको प्राकृतिक सौंदर्य तो देखने को मिलेगा ही, साथ ही साथ सांस्कृतिक और विरासत जगह भी आपको देखने को मिलेंगी। 

यदि आप मेघालय (Meghalaya) जाना चाहते हैं तो मेघालय जाने से पहले मेघालय का इतिहास, मेघालय की संस्कृति, मेघालय के त्यौहार, रहन सहन, खान पान (Meghalaya Food, पारंपरिक पोशाक, मेघालय जाने का सही समय, मेघालय में घूमने की बेहतरीन जगह, और मेघालय कैसे जाएं? यह सब जानकारी जरूर प्राप्त करें। 

आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपको मेघालय के बारे में पूरी जानकारी (Meghalaya State Information in Hindi) बताने वाले हैं। इसलिए इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें, ताकि सही जानकारी के आधार पर आप भी सफर का मजा ले सकें। 

मेघालय का इतिहास (History of Meghalaya in Hindi) –

असम के 2 बड़े जिलों को असम से अलग करने के बाद जनवरी 1972 ई. को मेघालय राज्य का गठन किया गया था। 16 अक्टूबर 1950 ई. को जब बंगाल का विभाजन लॉर्ड कर्जन के द्वारा किया गया तो मेघालय को असम का हिस्सा बनाया दिया गया। लेकिन बाद में फिर मेघालय को असम से अलग कर दिया गया था। 

वहीं अगर मेघालय के नाम की बात करें तो मेघालय का नाम संस्कृत से निकला है। यह पूर्वोत्तर भारत का एक राज्य है। मेघालय की राजधानी (Capital of Meghalaya) शिलांग है। मेघालय की अधिकारिक भाषा अंग्रेजी है। मेघालय का राजकीय पशु धूमिल तेंदुआ है। पहाड़ी मैना यहां की राजकीय पक्षी है। मेघालय का राजकीय फूल लेडी चप्पल आर्किड है। 

मेघालय से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण पॉइंट्स –

राज्य का नाममेघालय
राजधानी का नामशिलांग
मेघालय की स्थापना कब हुई1 अप्रैल 1970
जिलों की संख्या12
कुल जनसंख्या2,966,889
जनसंख्या का घनत्व132 वर्ग किलोमीटर
बोले जाने वाली भाषाअधिकारिक भाषा अंग्रेजी है। इसके अलावा यहां पर गारो खासी एवं अन्य भाषाएं भी बोली जाती है।
मुख्य भोजनमसालेदार मांस और मछली के साथ चावल।
साक्षरता दर74.43%
मेघालय क्यों प्रसिद्ध हैवर्षा, ऊंचे पठार, झील, सुंदर पर्वतमाला और झरनों के कारण मेघालय प्रसिद्ध है।

मेघालय की संस्कृति (Culture of Meghalaya in Hindi) –

Meghalaya Travel
Culture of Meghalaya in Hindi

मेघालय राज्य अपनी संस्कृति के कारण पूरे भारत में फेमस है। मेघालय में विभिन्न प्रकार की शिल्प कला देखने को मिलती है।

मेघालय की कला और शिल्प में बेंत और बांस के उत्पादों से बने हस्तशिल्प, कालीन बुनाई, कपड़ा बुनाई, आभूषण बनाने और लकड़ी की नक्काशी का महत्वपूर्ण स्थान है। मेघालय में गोरा, खासी के अलावा विभिन्न प्रकार की जनजाति के लोग पाए जाते हैं। 

मेघालय के लोग अधिकतर वांग्ला त्यौहार मनाते हैं। मेघालय के लोगों का मुख्य व्यवसाय (Meghalaya People Business) कृषि है। मेघालय में काफी ज्यादा वर्षा होती है, इसलिए इसे बादलों का निवास भी कहा जाता है। मेघालय के त्यौहार और खान-पान के कारण भी यह काफी ज्यादा प्रसिद्ध है। यहां के लोग सादा जीवन जीते हैं।

मेघालय के त्यौहार (Festivals of Meghalaya in Hindi) –

जिस प्रकार भारत के अन्य राज्यों में विभिन्न प्रकार के त्यौहार मनाए जाते हैं। इसी प्रकार मेघालय में भी कई तरह के त्यौहार मनाए जाते हैं। चलिए आगे हम मेघालय के प्रसिद्ध त्यौहारों के बारे में जान लेते हैं –

स्ट्रॉबेरी फेस्टिवल (Strawberry Festival) –

मेघालय के लोगों द्वारा स्ट्रॉबेरी की खेती को बढ़ावा देने के लिए स्ट्रॉबेरी फेस्टिवल मनाया जाता है। इस त्यौहार का मकसद किसानों को स्ट्रॉबेरी की खेती के लिए बढ़ावा देना है।

नोंगक्रेम डांस फेस्टिवल (Nongkrem Dance Festival) –

इस फेस्टिवल के जरिए मेघालय की खासी जनजाति के लोग अपने इष्ट देवता को धन्यवाद करते हैं। यह Festival हर साल नवंबर को मेघालय की राजधानी शिलांग में मनाया जाता है।

शाद सुक मिनसिम (Shad Suk Mynsiem) –

यह त्यौहार भी मेघालय में इष्ट देवता को धन्यवाद देने के लिए मनाया जाता है। अच्छी फसल होने के बाद यहां के लोग अपने इष्ट देवता को धन्यवाद देते हैं। 

सेंग कूट नेम (Seng Kut Snem) –

मेघालय के युवाओं द्वारा अपने समुदाय की रक्षा के लिए उठाए गए महत्वपूर्ण कदम की याद में सेंग कूट नेम त्यौहार मनाया जाता है। यह त्यौहार हर साल 23 नवंबर को सेलिब्रेट किया जाता है।

मेघालय का रहन सहन (Lifestyle of Meghalaya in Hindi) –

मेघालय के लोग काफी सीधा सादा जीवन जीते हैं। यहां के लोग शांतिप्रिय और प्रकृति प्रेमी हैं। मेघालय में अंग्रेजी, गारो और काशी भाषा बोली जाती है। आपको जानकर हैरानी होगी कि मेघालय में वंश महिलाओं के साथ चलता है। घर की सबसे छोटी बेटी को ही परिवार की संपत्ति मिलती है और माता-पिता की देखभाल भी वही करती है। 

मेघालय के प्राकृतिक सौंदर्य और अलग रहन-सहन के कारण हर साल यहां पर लाखों पर्यटक (Tourists) घूमने के लिए आते हैं।

मेघालय की पारंपरिक वेशभूषा (Traditional Dress of Meghalaya) –

पुरुषों और महिलाओं के लिए मेघालय की पारंपरिक वेशभूषा अलग-अलग है। भीड़भाड़ वाले इलाके में गारो महिलाएं कपास पोशाक पहनती हैं। कमर के गोल हिस्से को कवर करने के लिए बंधन का इस्तेमाल किया जाता है। 

इसके इलावा महिलाएं ब्लाउज पहनती हैं। चेक वाले कपड़े का इस्तेमाल महिलाएं खेत में काम करने के दौरान करती हैं, जिसे किरशह कहा जाता है। मेघालय के पुरुष लुंगी पहनते हैं। किसी उत्सव या फंक्शन में पुरुष पारंपारिक कपड़े पहनते हैं। खासी आदमी पगड़ी, जैकेट और धोती पहनते हैं।

इसे भी पढ़ें: मणिपुर का इतिहास, संस्कृति, और घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल – Manipur Travel Guide

मेघालय का नृत्य (Dance of Meghalaya in Hindi) –

मेघालय में विभिन्न प्रकार के नृत्य किए जाते हैं। हम आपको कुछ महत्वपूर्ण नृत्यों के बारे में जानकारी दे रहे हैं –

बेहदीनखलम (Behdienkhlam) –

यह नृत्य हर वर्ष जुलाई माह में मनाया जाता है। यह फसलों से संबंधित नृत्य है।

नोंगक्रेम नृत्य (Nongkrem Dance) –

नोंगक्रेम नृत्य खासी का सबसे महत्वपूर्ण नृत्य होता है। इसे शरद ऋतु के मौसम में मनाया जाता है।

वांगला नृत्य (Wangala Dance) –

वांगला नृत्य वांगला उत्सव का एक हिस्सा है। 

लाहू नृत्य (Lahoo Dance) –

यह नृत्य पुरुषों और महिलाओं के द्वारा रंगीन कपड़े पहन कर किया जाता है।

मेघालय का खान पान (Meghalaya Famous Food in Hindi) –

मेघालय के लोग अधिकतर मसालेदार मछली के साथ चावल खाना पसंद करते हैं। यहां के लोग सूअर, बत्तख, मुर्गी और गाय पालने के शौकीन हैं। इसके इलावा मसालेदार बांस के अंकुर का अचार भी यहां के लोगों को खाना पसंद है। चलिए आगे जान लेते हैं कि मेघालय के अन्य भोजन कौन कौन से हैं –

  • दोह-खलीह
  • पुमालोई
  • तुंग्रींबाई
  • पुदोह
  • साकिन गाटा
  • मिनील सोंगा
  • पुखलीन
  • नखम बिच्ची
  • मोमोज
  • बेंबू शूट्स

मेघालय घूमने जाने का सबसे बेहतरीन समय (Best Time to Visit Meghalaya) –

मेघालय चारों ओर से बादलों से घिरा हुआ है। यदि आप मेघालय जाना चाहते हैं तो अक्टूबर से जून के बीच में जाने का समय बिल्कुल सही रहेगा। मेघालय राज्य को मानसून के कारण पूरे देश में जाना जाता है। 

मेघालय राज्य में औसत 250 सेंटीमीटर तक वर्षा होती है। यहां पर होने वाली वर्षा के कारण यहां का वातावरण और भी शानदार लगता है। जो समय हमने आपको बताया है, यदि आप उसी समय मेघालय जाएंगे तो आपको काफी अच्छा एक्सपीरियंस मिलेगा।

मेघालय में घूमने लायक जगह (Famous Places to Visit Meghalaya) –

वैसे तो मेघालय में घूमने के लिए काफी सारे Places हैं। लेकिन हम आपको मेघालय की सबसे प्रसिद्ध जगहों के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे। ताकि आप कम समय में अधिक से अधिक जगह घूम कर मेघालय के टूर (Meghalaya Tour) को बेहतरीन बना सकें –

शिलांग (Shillong) –

दोस्तों मेघालय की राजधानी शिलांग अपने प्राकृतिक सौंदर्य के कारण भारत में ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी Famous है। यह समुद्र तल से लगभग 1490 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यदि आपको हरियाली पसंद है, तो आप शिलांग घूमने के लिए जरूर आएं।

जवाई शहर (Jawai City) –

मेघालय में स्थित जवाई शहर भी काफी ज्यादा प्रसिद्ध जगह है। यहां आपको सांस्कृतिक विरासत भी देखने को मिलती हैं। यहां पर स्थित थडलास्केन झील और लालोंग पार्क के कारण हर साल पर्यटक (Tourists) यहां पर घूमने के लिए आते हैं। 

नोंगपोह (Nongpoh) –

यह मेघालय में स्थित एक छोटा सा खूबसूरत स्थान है। नोंगपोह पूर्वी खासी हिल्स के उत्तर में मौजूद है। यहां का हरा भरा और शांत वातावरण सच में मन को काफी शांति देता है।

मव्स्मै गुफा (Mawsmai Cave) –

मेघालय के चेरापूंजी से मव्स्मै गुफा लगभग 7 किलोमीटर की दूरी पर है। यह गुफा एकदम भूल भुलैया की तरह लगती है। इस गुफा की लंबाई लगभग 150 किलोमीटर हैl यदि आप मेघालय टूर पर जाते हैं, तो इस गुफा में घूमने के लिए जरूर जाएं।

दावकी झील (Dawki Lake) –

वैसे तो मेघालय में कई सारी झीले हैं, लेकिन दावकी झील काफी ज्यादा प्रसिद्ध है। दावकी झील पर लोग नाव की सवारी करने के लिए जाते हैं। इस झील के आसपास का वातावरण भी बहुत अच्छा लगता है।

बल्पक्रम राष्ट्रीय उद्यान (Balphakram National Park) –

बल्पक्रम राष्ट्रीय उद्यान गारो हिल्स के दक्षिण में स्थित है। यह उद्यान गुफा के कारण काफी ज्यादा प्रसिद्ध है। यह समुद्र तल से लगभग 3000 फीट की ऊंचाई पर बसा है। इस नेशनल पार्क में आपको एक से बढ़कर एक जीव और पशु-पक्षी देखने को मिलेंगे।

नोहकलिकाई जलप्रपात (Nohkalikai Falls) –

मेघालय का यह जलप्रपात दिखने में काफी शानदार लगता है। यह जलप्रपात समुद्र तल से लगभग 332 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यहां का हरा भरा दृश्य सच में मन मोह लेता है। आप कभी भी मेघालय जाएं, तो यहां पर घूमना ना भूलें।

इन जगहों के अलावा भी मेघालय में बहुत सारे टूरिस्ट प्लेसेज हैं, जहां पर आप घूमने के लिए जा सकते हैं, जैसे –

  • डबल डेकर लिविंग रूट ब्रिज
  • कैलांग रॉक
  • जयंतिया हिल्स
  • खासी हिल्स
  • हाथी झरना
  • मावलिननांग गांव
  • उमियम झील
  • लेडी हैदरी पार्क मेघालय

मेघालय कैसे जाएं (How To Reach Meghalaya) –

आप अपने बजट (Meghalaya Tour Budget) और स्थिति के आधार पर मेघालय जा सकते हैं। हम आपको बस, ट्रेन और हवाई जहाज से मेघालय जाने की पूरी जानकारी विस्तार से दे रहे हैं –

रेल से (By Train) – गुवाहाटी रेलवे स्टेशन मेघालय से जुड़ने वाला आखरी रेलवे स्टेशन है। गुवाहाटी से आगे आपको बस और कैब से जाना होगा।

बस से (By Bus) – मेघालय जाने के लिए आप बस का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। मेघालय में आप जिस स्थान पर सबसे पहले घूमना चाहते हैं, आपको वहां की बस लेनी होगी। वहां पर समय-समय पर काफी बस आती जाती रहती हैं, इसलिए आपको बस से सफर करने में कोई दिक्कत नहीं होगी।

हवाई जहाज से (By Airplane) – मेघालय की राजधानी शिलांग में 30 किलोमीटर पर उमरोई हवाई अड्डा भी है। यदि आप का बजट अच्छा है और आप लग्जरी सफर करना चाहते हैं, तो आप हवाई जहाज से सफर कर सकते हैं। शिलांग से गुवाहाटी और तुरा को जोड़ने वाली हेलीकॉप्टर सेवा भी है।

FAQs –

Q- मेघालय का मुख्य भोजन क्या है?

A-मांस और चावल मेघालय का मुख्य भोजन है।

Q-मेघालय के लोगों का मुख्य व्यवसाय क्या है?

A-मेघालय के लोग कृषि करते हैं।

Q-मेघालय में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगह कौन-सी है?

A-मेघालय की राजधानी शिलांग घूमने के लिए सबसे अच्छी जगह है। इसके अलावा भी मेघालय में काफी सारी खुबसूरत जगह है, जहां आप घूम सकते हैं।

Q-मेघालय और असम में से सबसे प्रसिद्ध कौन है?

A-मेघालय और असम दोनों की अपनी अपनी विशेषताएं हैं। दोनों ही राज्य घूमने के लिए काफी अच्छे हैं।

Q-मेघालय कैसे जा सकते हैं?

A-बस, ट्रेन और हवाई जहाज किसी के भी द्वारा आप मेघालय घूमने के लिए जा सकते हैं।

निष्कर्ष (Conclusion) –

मेघालय चारों ओर से बादलों और हरियाली से घिरा हुआ है, इसलिए यहां का नजारा सच में शानदार लगता है। हमने आपको इस पोस्ट के माध्यम से मेघालय में घूमने के लिए सही समय, मेघालय में घूमने के लिए पर्यटक स्थल, मेघालय का इतिहास, संस्कृति, खानपान, रहन सहन, वेषभूषा और मेघालय कैसे जाए आदि की संपूर्ण जानकारी दे दी है।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह Tour and Travel का आर्टिकल पसंद आया होगा। इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें, ताकि उन्हें भी मेघालय में घूमने वाले बेस्ट टूरिस्ट प्लेसेज के बारे में जानकारी मिल सके, Thanks!

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रीलंका में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल। भूटान में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल | भूटान से 10 जुड़े रोचक तथ्य (Interesting facts About Bhutan) 10 ट्रेवल कंटेंट क्रिएटर जो महीनों का लाखों कमाते है। कैंची धाम – नीम करोली बाबा से अनसुलझे जुड़े रहस्य।