नागालैंड का इतिहास, संस्कृति, खान-पान, और घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल – Nagaland Travel Guide in Hindi

Nagaland Travel Guide in Hindi
Nagaland Travel Guide in Hindi

आपको यदि ट्रेकिंग पसंद है या आप पहाड़ी जगहों पर घूमना चाहते हैं तो आपको एक बार नागालैंड जरूर जाना चाहिए। यहाँ आपको खूबसूरत नजारों के साथ ट्रेकिंग का भी मजा मिल जायेगा। नागालैंड जैसी सुन्दर जगह पर जाने का Trip Plan करने से पहले आप इसके बारे में सारी जानकारी जरूर लें। ताकि आप चीजों को अच्छी तरह से एक्स्प्लोर कर सकें। नागालैंड के बारे में अच्छे से जानने के लिए आप इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।  

नागालैंड के सफर पर जाएं और ट्रेकिंग का आनंद उठाएं 

नागालैंड भारत के उत्तर-पूर्व में बसा हुआ एक राज्य है, जिसकी राजधानी कोहिमा है। यह राज्य म्यांमार, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर और असम से घिरा हुआ है। नागालैंड बहुत ही सुन्दर राज्य है, जिसकी खूबसूरती स्विट्जरलैंड से कम नहीं है। इसलिए इसे ‘पूरब का स्विट्जरलैंड’ के नाम से भी जाना जाता है। नागालैंड प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है। यहाँ पर कई जनजातियां रहती हैं, जिनकी अपनी अपनी संस्कृति, रीतिरिवाज और त्यौहार हैं। यहाँ पर अनेक प्रकार के जीव जंतु और वनस्पति पाए जाते हैं, जो दुनियाभर में कहीं नही हैं। नागालैंड को पूरा जानने से पहले इसके इतिहास के बारे में जान लेते हैं – 

नागालैंड का इतिहास (History of Nagaland in Hindi) –

नागालैंड के इतिहास की बात करें तो पूर्व में इसका कोई भी इतिहास नहीं रहा है। 1947 ई. में जब भारत को आजादी मिली तो नागा समुदाय के लोग असम के कुछ हिस्सों में बसे हुए थे। इसके बाद नागा समुदाय ने राजनितिक संघ की मांग की। फिर 1960 ई. में नागा लोगो की सम्मलेन बैठक हुयी, जिसमे नागालैंड को भारतीय संघ बनने की बात रखी गयी। इसके बाद 1 दिसंबर 1963 ई. को नागालैंड को एक अलग राज्य का दर्जा मिल गया और फिर यह हमारे भारत का 16वां राज्य (State) बन गया। 

नागालैंड से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण पॉइंट्स –

शहर का नामनागालैंड
राजधानी का नामकोहिमा
कब स्थापना हुई1 दिसंबर 1963
क्षेत्रफललगभग 16579 वर्ग किलोमीटर
कुल जिले12
कुल जनसंख्यातकरीबन 1,980,602
जनसंख्या का घनत्व119
साक्षरता80.11%
बोली जाने वाली भाषाएंअंग्रेजी, चांग, कोन्याक, लोथा, सेमा, फोम, अंगामी
किस लिए फेमस हैनागालैंड में पक्षियों की सुन्दर प्रजातियां है। इस कारण इसे  “द फाल्कन कैपिटल ऑफ द वर्ल्ड” भी कहा जाता है। 

नागालैंड की संस्कृति क्या है (Culture of Nagaland in Hindi) –

नागालैंड संस्कृति और परंपराओं की भूमि है। यह अपने बांस, बुनाई और लकड़ी की नक्काशी के लिए भी प्रसिद्ध है। कला और शिल्प में भी नागावासी किसी से कम नहीं हैं। इसके अलावा नृत्य और संगीत नागालैंड की संस्कृति का हिस्सा है। नागालैंड अपने आकर्षक त्यौहारों के लिए भी जाना जाता है। आपको नागालैंड की संस्कृति से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा।  

नागालैंड के त्यौहार (Festivals of Nagaland in Hindi) –

नागालैंड को “त्यौहारों की भूमि” कहा जाता है। यहाँ के त्यौहार देशभर में प्रसिद्ध हैं। नागालैंड के त्यौहार इस प्रकार हैं – 

हॉर्नबिल फेस्टिवल (Hornbill Festival) – यह त्यौहार नागालैंड का सबसे प्रमुख त्यौहार है। इस त्यौहार को 1 से 10 दिसंबर के बीच मनाते है। नागालैंड की राजधानी कोहिमा से 12 किलोमीटर दूर किसामा हेरिटेज विलेज में इस त्यौहार को बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। 

सेक्रेनेयी फेस्टिवल (Sekrenyi Festival) – यह त्यौहार भी नागालैंड के प्रमुख त्यौहारों में से एक है। अनागामी आदिवासी समुदाय इस त्यौहार को मनाता है। यह त्यौहार (Festival) 25 फरवरी से शुरू होता है और फिर 15 दिनों तक चलता है।

बुशू फेस्टिवल (Bushu Festival) – नागालैंड की दिमा जनजाति इस त्यौहार को मनाती है। यह त्यौहार जनवरी महीने में फसल के पूरा होने की ख़ुशी में मनाया जाता है। दिमा जनजाति के लोग इस त्यौहार में खेल खेलते हैं और नाचते गाते हुए उत्सव मनाते हैं। 

मीम कुट महोत्सव (Mim Kut Festival) – मीम कुट महोत्सव नागालैंड के साथ-साथ मिजोरम के कुछ हिस्सों में मनाया जाता है। यह कुकी नागाओं द्वारा मनाया जाने वाला उत्सव है, जो कि आखिरी फसल की सफल कटाई के बाद मनाया जाता है। यह त्यौहार दिसंबर के अंत में होता है। 

मोआत्सु मोंग (Moatsu Mong) – मोआत्सु मोंग त्यौहार एओ लोगों द्वारा मनाया जाता है। इस त्यौहार को मई के पहले सप्ताह में बीज बोने के बाद सेलिब्रेट करते हैं।   

इसके अलावा आओलांग फेस्टिवल, Tsukhenyie Festival, नाक्युलुम महोत्सव आदि त्यौहार भी नागालैंड में मनाये जाते हैं। 

नागालैंड का रहन सहन (Lifestyle of Nagaland in Hindi) –

नागालैंड के लोगों के रहन सहन की बात की जाए तो यहाँ के लोग बहुत ही खुश मिजाज होते हैं। यह लोग घुलमिल कर रहते हैं। यहां के लोग अपने त्यौहारों और परम्पराओं को बहुत ही ख़ुशी के साथ मनाते हैं। इनके रहन सहन में आपको नागालैंड की संस्कृति की झलक देखने को मिलेगी। 

नागालैंड की पारंपरिक पोशाक (Traditional Dress of Nagaland) –

नागालैंड की वेशभूषा उनके पूर्वजों की संस्कृति को दर्शाती है। वहां के लोग अपनी परंपरा को दिल से अपनाते है। उनकी वेशभूषा बहुत ही सुन्दर और आकर्षक होती है। यहाँ के लोग अपने कपड़ों में शॉल के कई प्रकार को शामिल करते हैं। यहां की महिलाएं नीले और सफ़ेद रंग की शॉल का उपयोग करती हैं। वो इस तरह से शॉल को पहनती हैं कि उनकी ड्रेस बहुत ही खूबसूरत लगती है। एओ महिलाओं की वेशभूषा में स्कर्ट भी शामिल रहता है। वहीं नागालैंड के पुरुष ब्लैक शॉल पहनते हैं, जिसे रत्फके कहते हैं। इसके अलावा वो कढ़ाई वाले और कौड़ियों से बने कल्ट भी पहनते हैं। 

नोट :- नागालैंड की एक प्रथा है – यहाँ पर बेटी की शादी के समय उसके माता पिता शतानी शॉल देते हैं, जो कि रंगीन होती है। इस शॉल को बहुत ही संभाल कर रखा जाता है। क्योंकि उसकी मृत्यु के समय उसके शव को उस शॉल से ढका जाता है। 

नागालैंड का नृत्य (Dance of Nagaland in Hindi) –

नागालैंड में बहुत सी जनजातियां रहती हैं, जिस कारण यहाँ पर बहुत सारे लोक नृत्य होते हैं। नागालैंड के प्रमुख लोक नृत्य इस प्रकार हैं –

चांग लो नृत्य (Chang Lo Dance) – इस नृत्य को ‘सुआ ला’ के नाम से भी जाना जाता है। इस नृत्य में पुरुष और महिला दोनों भाग लेते हैं। यह नृत्य चांग नागा जनजाति का पारंपरिक लोक नृत्य है। इस नृत्य को शत्रु पर जीत की ख़ुशी में मनाया जाता है। 

मोडसे नृत्य (Modese Dance) – मोदसे नृत्य नागालैंड की एओ जनजाति द्वारा किया जाने वाला एक पारंपरिक लोक नृत्य है। यह नृत्य हर साल मई के पहले सप्ताह में बुवाई के समय किया जाता है। इस नृत्य में पुरुष और महिलाएं पारंपरिक एओ पोशाक पहनते हैं और हाथ पकड़कर एक घेरे में नृत्य करते हैं।

तितली नृत्य (Butterfly Dance) – यह नागालैंड की चखेसांग जनजाति का एक पारंपरिक लोक नृत्य है। इसमें चखेसांग पोशाक को पहनकर नृत्य किया जाता है। इस नृत्य में पारंपरिक Musical Instruments का उपयोग किया जाता है।  

कुकी नृत्य (Kuki Dance) – यह नृत्य भी नागालैंड के प्रमुख लोक नृत्यों में से एक है। यह नृत्य शादियों, त्यौहारों और अन्य महत्वपूर्ण अवसरों पर किया जाता है। इस नृत्य को पुरुष और महिलाएं दोनों करते हैं। इस नृत्य के समय रंगीन पारंपरिक पोशाक पहनी जाती है।  

युद्ध नृत्य (War Dance) – नागालैंड के पुरुष इस नृत्य को करते हैं। इस नृत्य में पुरुष युद्ध की तरह नृत्य करते हैं, जो देखने में बहुत ही अमेजिंग लगता है।

इन लोक नृत्यों के अलावा बांस नृत्य, अलयुत्तु, अग्रिशुकुला, सदल केकई, लेशालतु, खम्बा लिम, चंगाई नृत्य, मयूर नृत्य, रेंग्मा, मोयनाशो, सेचा, कुकुई कुचो, जेलियांग नृत्य आदि भी नागालैंड में किए जाते हैं।

नागालैंड का भोजन (Nagaland Food in Hindi) –

कहीं घूमने जाएं और साथ में अच्छा खाना मिल जाए तो सफर का आनंद दोगुना हो जाता है। आप यदि नागालैंड का Tour Plan कर रहे हैं तो आपको वहां के लज़ीज खानों के बारे में भी जानना चाहिए। ताकि आप वहां के स्वादिष्ट खानों को भी चख सकें। आपको बता दें कि नागालैंड के लोगो का मुख्य भोजन चावल होता है, जो वो मांस, मछली या फिर करी के साथ खाते हैं। इसके अलावा नगालैंड के कुछ Famous Foods इस प्रकार हैं –

  • ऐकिबे
  • अकिनी
  • समथू
  • हिंकेजवु 
  • बांस में पकाई हुयी मछली
  • बुशमीट
  • जुथो
  • अनीशी

नागालैंड की यात्रा का सबसे अच्छा समय (Best Time to Visit Nagaland) –

नागालैंड घूमने का सोच रहे हैं और यह भी सोच रहे हैं कि किस मौसम में नागालैंड जाए? तो आपको बता दें कि यदि आप नागालैंड घूमना चाहते हैं तो सर्दियों के मौसम में घूमने जाएं। यह समय यहाँ घूमने के लिए बहुत ही अच्छा होता है। गर्मायों के समय में भी नागालैंड घूमा जा सकता है। लेकिन गर्मियों के मौसम में यहाँ पर बारिश भी हो जाती है, जिस कारण घूमने में परेशानी आ सकती है। 

नागालैंड में घूमने की जगह (Best Places to Visit in Nagaland) –

नागालैंड पहुंच कर आपको कौन कौन सी जगहों पर घूमना चाहिए वो इस प्रकार हैं – 

कोहिमा (Kohima) – यह जगह ट्रेकिंग के लिए जानी जाती है। टूरिस्ट यहाँ पर ट्रेकिंग का मजा लेने आते हैं।  

दीमापुर (Dimapur) – यह नागालैंड का सबसे बड़ा शहर है। यहाँ आपको नागालैंड विज्ञान केंद्र, ट्रिपल फॉल्स जैसी चीजे देखने को मिलेंगी। 

मोकोकचुंग (Mokokchung) – नागालैंड का यह भी बहुत ही Famous Place है। यहाँ पर लोकप्रिय पर्यटन स्थल “द टाउन मेन पार्क” स्थित है। 

फेक पर्यटन (Fake Tourism) – यह एक पहाड़ी क्षेत्र है। यहाँ पर अनेक प्रकार की वनस्पति और जीव देखने को मिलते हैं। यहां की शिलाई झील भी बहुत फेमस है। यहाँ आपको प्रकृति की सुंदरता देखने को मिलेगी। 

जुकू घाटी (Juku Valley) – यह घाटी अपने खूबसूरत नजारों के लिए जानी जाती है। इसे स्विटजरलैंड के रूप में भी जाना जाता है। यहाँ पर ट्रेकिंग भी की जाती है। 

खोनोमा ग्राम (Khonoma Village) – इस गाँव की अपनी अलग पहचान है। इसे भारत के पहले ग्रीन विलेज के रूप में जाना जाता है। यह जगह देखने में बहुत ही सुन्दर है। 

इसके अलावा आप इन जगहों पर भी जा सकते हैं, जैसे –

  • नागा हेरिटेज विलेज कोहिमा
  • शीलोई झील 
  • तौफेमा गाँव 
  • मोन
  • तुएनसांग
  • दोयांग नदी
  • रेन फ़ॉरेस्ट ट्रेल
  • सारामती पर्वत

नागालैंड कैसे पहुंचा जाए (How to Reach Nagaland) –

नागालैंड पहुंचने के लिए कई सुविधाएं हैं। आप बस, ट्रेन या फिर हवाई जहाज किसी से भी वहां जा सकते हैं। चलिए आपको बताते हैं कि आप नागालैंड कैसे पहुंच सकते हैं। 

सड़क मार्ग से (By Road) – नागालैंड सड़क के द्वारा शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। इसलिए आप अपने शहर से नागालैंड के लिए बस सेवाएं ले सकते हैं। इसके अलावा यदि आप अपने निजी वाहन से जाना चाहते हैं तो हाईवे के रास्ते से नागालैंड जा सकते हैं। 

ट्रेन मार्ग से (By Train) – यदि आप ट्रेन से सफर करने का सोच रहे हैं तो नागालैंड के दीमापुर का रेलवे स्टेशन सबसे नजदीक है। आप यहाँ पहुंचकर ऑटो या फिर टेक्सी से जा सकते हैं। 

हवाई मार्ग से (By Airplane) – यदि आप हवाई जहाज से नागालैंड जाना चाहते हैं तो आपको दीमापुर हवाई अड्डा पर पहुंचना होगा। वहां से आपको नागालैंड के अन्य शहरों में जाने के लिए बस या टेक्सी मिल जाएगी। 

FAQs –

Q.नागालैंड में कौन–कौन से त्यौहार मनाए जाते हैं?

A.नागालैंड में हॉर्नबिल फेस्टिवल को बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इसके अलावा सेक्रेनेयी फेस्टिवल, बुशू फेस्टिवल, मीम कुट महोत्सव, मोआत्सी मोंग जैसे त्यौहारों को भी नागालैंड में मनाया जाता है।

Q. नागालैंड का लोक नृत्य कौन सा है?

A. नागालैंड का मुख्य लोक नृत्य “मोडसे ” है। इसके अलावा चांग लो नृत्य, तितली नृत्य, कुकी नृत्य, और युद्ध नृत्य भी नगालैंड के लोगों द्वारा किया जाता है। 

Q. नागालैंड में कौन सा खेल सबसे प्रमुख है?

A. नागालैंड का सबसे प्रमुख खेल कुश्ती है। 

Q.नागालैंड भारत में कहां पर स्थित है?

A. भारत के उत्तर पूर्व में नागालैंड राज्य स्थित है।

Q. नागालैंड क्यों प्रसिद्ध है?

A. नागालैंड में पक्षियों की सुन्दर प्रजातियां देखने को मिलती हैं। इस कारण इसे “द फाल्कन कैपिटल ऑफ द वर्ल्ड” कहा जाता है। 

निष्कर्ष (Conclusion) –

इस आर्टिकल में हमने आपको नागालैंड के विषय में पूरी जानकारी दी है, जैसे – नागालैंड का इतिहास क्या है, वहाँ कौन कौन सी भाषा बोली जाती हैं, नागालैंड की संस्कृति, वहां के मुख्य नृत्य, नागालैंड के त्यौहार, नागालैंड का रहन सहन और खाना पान कैसा है, वहां के लोगों का पहनावा किस तरह का है। 

आप यदि नागालैंड का ट्रिप प्लान कर रहे हैं तो आपके लिए किस मौसम में जाना अच्छा होगा और आप कहाँ कहाँ घूम सकते हैं। आप नागालैंड कैसे पहुंच सकते हैं इसके बारे में भी हमने आपको इस आर्टिकल में बताया है। आशा करते हैं कि आपके लिए नागालैंड से जुड़ी ये सारी जानकारी Helpful रही होगी। 

यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप इसे सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर भी Share करें, 

Thanks!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रीलंका में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल। भूटान में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल | भूटान से 10 जुड़े रोचक तथ्य (Interesting facts About Bhutan) 10 ट्रेवल कंटेंट क्रिएटर जो महीनों का लाखों कमाते है। कैंची धाम – नीम करोली बाबा से अनसुलझे जुड़े रहस्य।