मणिपुर का इतिहास, संस्कृति, और घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल – Manipur Travel Guide

Manipur Travel Guide
Manipur Travel Guide in hindi

खूबसूरत वादियां, ऊँची ऊँची पहाड़ियां, सुन्दर झरने, नदियां और आकर्षक वातावरण, यदि यह सब एक ही जगह मिल जाए तो आप ऐसी जगह जाना जरूर पसंद करेंगे। आपको बता दे कि मणिपुर एक ऐसा ही Place है, जहाँ आपको ये सारी चीजे देखने को मिलेंगी। अगर आप प्रकृति से प्रेम करते हैं और उसके बारे में जानना चाहते हैं तो मणिपुर का ट्रिप (Manipur Trip) प्लान कर सकते हैं।

ट्रिप प्लान करने से पहले आप मणिपुर के बारे में अच्छे से जान लें। मणिपुर के बारे में ठीक से जानने के लिए आप हमारी इस Tour and Travel Guide को पूरा जरूर पढ़ें। मणिपुर भारत के पूर्वोत्तर में बसा हुआ एक राज्य है, जिसकी राजधानी इम्फाल है। मणिपुर की भाषा मणिपुरी है। यहाँ के मूल निवासी मितई जनजाति के लोग होते हैं। 

इसे भी पढ़ें: भारत में राज्य और केंद्रशासित प्रदेश के हिसाब से घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल।

यदि लेना चाहते हैं खूबसूरत वादियों का आनंद, तो आज ही बना लें मणिपुर जाने का प्लान 

यहाँ की हरी हरी पहाड़ियां किसी को भी अपनी ओर आकर्षित कर सकती है। प्रकृति प्रेमी यहाँ पर घूमने के लिए आते हैं, जो मणिपुर की सुंदरता को देख कर उसके कायल हो जाते हैं। मणिपुर किसी स्वर्ग से कम नहीं दिखाई देता। मणिपुर के बारे में और अच्छे से जानने के लिए पहले इसके इतिहास के बारे में जान लेते हैं।  

मणिपुर का इतिहास क्या है (History of Manipur in Hindi) –

History of Manipur in Hindi
History of Manipur in Hindi

मणिपुर के इतिहास की बात करें तो मणिपुर पर 1891 ई. में ब्रिटिश सरकार का शासन था। इसके बाद जब 1947 ई. में अंग्रेजो ने भारत छोड़ा तब महाराज बोधचंद्र ने मणिपुर पर शासन किया। फिर 26 जनवरी 1950 ई. में भारत का संविधान लागू हुआ। तब इस राज्य को मुख्य आयुक्त के अधीन भारतीय संघ में भाग “सी” के रूप में शामिल किया गया। बाद में एक प्रादेशिक परिषद की स्थापना की गयी, जिसमे 30 सदस्य को चयनित किया गया और 2 सदस्य मनोनीत हुए। फिर एक विधानसभा बनायी गयी। इसके बाद 19 दिसंबर,1969 ई. से उपराज्यपाल का दर्जा मिल गया।  मणिपुर को 21 जनवरी, 1972 में पूर्ण राज्य का दर्जा मिल गया। 

इसे भी पढ़ें: सिक्किम का इतिहास, संस्कृति, खान पान, रीति रिवाज और सामान्य ग्यान – History of Sikkim in Hindi

मणिपुर से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण पॉइंट्स –

शहर का नाममणिपुर
राजधानी का नामइम्फाल
कब स्थापना हुई21 जनवरी 1972
क्षेत्रफललगभग 22327 वर्ग किलोमीटर
कुल जिले16
कुल जनसंख्यातकरीबन 2,855,794
जनसंख्या का घनत्व130
साक्षरता82.34%
बोली जाने वाली भाषाएंमणिपुरी
किस लिए फेमस हैमणिपुर बाँस उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है।

मणिपुर की संस्कृति क्या है (Culture of Manipur in Hindi) –

मणिपुर में कई आदिवासी जनजातियां रहती हैं, जो अपनी संस्कृति को बरक़रार रखे हुए हैं। उनकी संस्कृति उनके त्यौहारों और रीती-रिवाजों में आसानी से देखने को मिलती है। यदि आप मणिपुर जाने का प्लान कर रहे हैं तो आपको यहाँ की संस्कृति मोहित कर देगी।    

मणिपुर के त्यौहार (Festivals of Manipur in Hindi) –

आप मणिपुर जाएं और वहां के त्यौहारों को ना देखें तो आपका Tour अधूरा रहेगा। मणिपुर के त्यौहार बहुत ही सुन्दर और आकर्षक होते हैं, जिसे देखने के लिए दूर दूर से पर्यटक (Tourist) आते हैं। इसलिए आप भी मणिपुर के त्यौहारों को जरूर देखें और उस पल का आनंद लें। चलिए आपको बताते हैं कि मणिपुर में आपको कौन कौन से त्यौहार देखने को मिल जायेंगे –

कांग महोत्सव (Kang Festival) –

यह त्यौहार मणिपुर के प्रमुख त्यौहार में से एक है, जो कि दस दिनों तक चलता है। इसे मणिपुर की रथ यात्रा कहते हैं। इसमें भगवान् जगन्नाथ जी को ” कांग ” नामक रथ में बिठाया जाता है और इस रथ को भक्त खींचते हैं। यदि आप जुलाई के महीने में मणिपुर जाते हैं तो आप इस Festival का मजा भी ले सकते हैं। 

चीरोबा महोत्सव (Cheiraoba Festival) –

इस त्यौहार को मणिपुर में नये साल के रूप में मनाया जाता है। इस दिन मणिपुरी अपने घरों की साफ सफाई करते हैं। अपने अपने घरों को अच्छे से सजाते हैं। तरह तरह के पकवान बनाये जाते हैं और भगवान की पूजा अर्चना की जाती है। यह त्यौहार अप्रैल के महीने में मनाया जाता है। यदि आप अप्रैल में अपना Tour Plan करते हैं तो आप इस त्यौहार को एन्जॉय कर सकते हैं। 

चुम्फा महोत्सव (Chumpha Festival) –

आपको बता दे कि हर राज्य अपनी फसल के लिए त्यौहार मनाता है। इसी तरह मणिपुर में भी अपनी फसल के लिए त्यौहार मनाया जाता है। इस त्यौहार को चुम्फा कहा जाता है। इस त्यौहार को दिसंबर के महीने में Celebrate किया जाता है, जो कि सात दिनों तक चलता है।  

हेइक्रु हिडोंगबा (Heikru Hidongba) –

यह त्यौहार सितम्बर के महीने में मनाया जाता है। इसमें नौका दौड़ होती है। बड़ी संख्या में नाविक इसमें भाग लेते हैं। नौका दौड़ होने से पहले भगवान विष्णु की मूर्ति रखी जाती है। इसके बाद ही रेस को शुरू किया जाता है। इस रेस को देखने में बहुत आनंद आता है। 

याओसांग महोत्सव (Yaoshang Festival) –

यह त्यौहार भी मणिपुर के प्रमुख त्यौहारों में आता है। इस त्यौहार को फाल्गुन मास के दिन मनाया जाता है। इसलिए इसे होली की तरह ही मनाते हैं। यह पर्व पांच दिन तक चलता है।

इन मुख्य त्यौहारों के अलावा लुई-नगाई-नी, निंगोल चक-कौबा, कुट त्यौहार, रमजान, क्रिसमस आदि त्यौहारों को भी यहां बहुत ही अच्छे से मनाया जाता है।   

मणिपुर का रहन सहन (Lifestyle of Manipur in Hindi) –

मणिपुर के लोग बहुत सरलता से अपना जीवन यापन करते है। यहाँ का मुख्य व्यवसाय कृषि है। आपको मणिपुर में कई कलाकार लोग भी मिल जायेंगे, जो अपनी अद्भुत कला से आपको मोहित कर सकते हैं। बांस से यह लोग कई तरह की वस्तुएं बनाते हैं, जो कि बहुत सुन्दर होती है। मणिपुर का बांस व्यवसाय पूरे भारत में प्रसिद्ध है। आपको यहाँ का रहन सहन बहुत पसंद आएगा।  

इसे भी पढ़ें: अगर लेना चाहते हैं प्रकृति नज़ारों का लुत्फ तो मिजोरम जरूर घूमें- Mizoram travel guide in Hindi

मणिपुर की पारंपरिक पोशाक (Traditional Dress of Manipur Male and Female) –

मणिपुर की वेशभूषा साधारण होती है। लेकिन वह बहुत ही आकर्षक लगती है। मणिपुर में पुरुष सफ़ेद रंग की धोती और कुर्ता पहनते हैं। साथ ही सफ़ेद पगड़ी भी पहनी जाती है। महिलाएं जो ड्रेस पहनती हैं उसे इंनाफी कहा जाता है। यह कपड़ा शॉल जैसा होता है, जिसमें आकर्षक बॉर्डर बना होता है। इसके अलावा फेनक और स्कर्ट भी मणिपुर की महिलाओं द्वारा पहना जाता है। 

मणिपुर का लोक नृत्य (Dance of Manipur in Hindi) –

मणिपुर जितना सुन्दर है, वहां की नृत्य कला भी उतनी ही आर्कषक है। “मणिपुरी नृत्य” मणिपुर का प्रमुख शास्त्रीय नृत्य है। इसके अलावा भी कई लोक नृत्य हैं, जो अपने आप में अद्भुत हैं, जो कि इस प्रकार हैं –   

रास लीला (Raas Leela) –

यह नृत्य मणिपुर की संस्कृति को दर्शाता है। यह प्राचीन काल से किया जाने वाला नृत्य है। इसमें राधा और कृष्ण जी के अटूट प्रेम को नृत्य के जरिए दिखाया जाता है। इस नृत्य में पोशाक से लेकर नृत्य के हाव भाव बहुत ही सुन्दर होते हैं। कोई भी इस नृत्य को देखकर उसमें खो सकता है। 

पुंग चोलोम या ड्रम डांस (Pung Cholom or Drum Dance) –

यह मणिपुर का प्रसिद्ध लोक नृत्य है। इस नृत्य में डांस के साथ साथ पुंग नाम के ढोल को भी बजाया जाता है। इस नृत्य को करने के लिए बहुत प्रतिभा की जरुरत पड़ती है। 

खंबा थोईबी नृत्य (Khamba Thoibi Dance) –

यह नृत्य भी मणिपुर के फेमस लोक नृत्यों में से एक है। इसमें पुरुष और महिलाओं का ग्रुप होता है। इस नृत्य में पारम्परिक पोशाक पहनी जाती है। इसमें खंबा के खुमान वंश के एक लड़के की कहानी को बताया जाता है, जो बहुत गरीब होता है और वह मोइरंग की राजकुमारी थीबी से प्यार करने लगता है। 

लुइवत फेजाक (Luivat Pheizak) –

मणिपुर का यह लोक नृत्य तांगखुल नागा समुदाय में लोकप्रिय है। इस नृत्य में खेती को दिखाया जाता है। मणिपुर के त्यौहारों के समय इस नृत्य को किया जाता है।

थबल चोंगबा (Thabal Chongba) –

यह भी मणिपुरी लोक नृत्यों में से एक है। इसको योशांग के त्यौहार के समय किया जाता है। यह नृत्य गोला बनाकर किया जाता है। 

मणिपुर के इन प्रसिद्ध लोक नृत्यों के अलावा थौगल जागोई, येलहाउ जागोई, माई, नूपा आदि नृत्य भी मणिपुर में लोकप्रिय हैं। 

मणिपुर का खान पान (Manipur Famous Food in Hindi) –

आप कहीं घूमने जाएं और खाने की बात ना हो। यह कुछ अधूरा सा लगेगा। एक अच्छी ट्रिप के दौरान अच्छा खाना मिलना भी जरूरी होता है। तभी आपकी ट्रिप एक यादगार ट्रिप बन जाती है। आपको बता दें कि मणिपुर का Food आपके जायके को और भी बढ़ा देगा। यहाँ का स्वादिष्ठ खाना ऐसा है कि आप बार बार उसे खाना पसंद करेंगे। चलिए आपको बताते हैं मणिपुर के फेमस खानों के बारे में, जो इस प्रकार हैं –

  • अलु कांगमेट  
  • पाकनामी 
  • सिंगजू 
  • एरोम्बा 
  • चामथोंग
  • मोरोक मेटपा
  • चक-हाओ खीर
  • नगा-थोंगबा
  • कंगसोई
  • चखाओ
  • ऊटी

आपको बता दें कि मणिपुर का मुख्य भोजन चावल है। इसके साथ वहां के लोग हरी पत्तेदार सब्जियां और मांस मछली से बनी डिश का भी सेवन करते हैं। वहां के मसाले खाने के स्वाद को बढ़ा देते हैं। आप अपनी Trip पर इन प्रसिद्ध खानों (Foods) का स्वाद जरूर लें।   

मणिपुर घूमने जाने का सही वक्त (Best Time to Visit in Manipur) –

आप ऐसे मौसम में मणिपुर जाएं, जब आप वहां के नजारो को बिना किसी परेशानी के देख सकें। तो इसके लिए आपको यह जानने के जरूरत है कि मणिपुर घूमने का अच्छा समय कौन सा रहता है। आपको बता दे कि मणिपुर घूमने के लिए सितंबर से अप्रैल तक का महीना बहुत ही अच्छा होता है। इस समय यहाँ का मौसम बेहतरीन होता है। ऐसे में आप यहाँ की प्राकृतिक जगहों का भी आनंद ले सकते हैं। इसके अलावा सर्दियों के मौसम में मणिपुर की सुंदरता दोगुनी हो जाती है। इसलिए आप अपना टूर सर्दियों में भी प्लान कर सकते हैं। 

मणिपुर में घूमने लायक जगह (Best Places to Visit in Manipur) –

यदि आप मणिपुर घूमने का Plan बना रहे हैं तो आपके मन में यह ख्याल जरूर आएगा कि मणिपुर में कौन कौन सी जगहों पर घूमा जा सकता है? चलिए आपको नीचे बताते हैं कि आप मणिपुर में कौन कौन सी जगहों पर घूमने जा सकते हैं – 

  • इंफाल
  • चंदेल
  • एंड्रो
  • तामेंगलांग
  • थौबल 
  • सेनापति
  • चुराचंदपुर
  • खोंगजोम
  • उखरुल

ये सारी जगहें प्राकृतिक सुंदरता से भरी हुई हैं और अपने इतिहास को दिखाती है। आप यहाँ के नजारों को कभी भी भूल नहीं पाएंगे।  

मणिपुर कैसे पहुंचें (How to Reach Manipur) –

आप मणिपुर जाने का प्लान कर रहे हैं तो वहां पहुंचने के लिए आप ट्रेन, बस या फिर फ्लाइट का चुनाव का सकते हैं। यह शहर देश के कई शहरों से जुड़ा हुआ है। इसलिए आप आसानी से मणिपुर पहुंच सकते हैं। आप निम्नलिखित साधनों द्वारा मणिपुर जा सकते हैं –

सड़क मार्ग द्वारा (By Road) – मणिपुर सिलचर, कोहिमा, दीमापुर, गुवाहाटी जैसे शहरों से जुड़ा हुआ है। आपको यहां जाने के लिए बस सेवाएं मिल जाएँगी। वहीं आप अपने निजी वाहन से भी मणिपुर पहुँच सकते हैं। 

रेल मार्ग द्वारा (By Train) – आपको बता दे कि मणिपुर पहुंचने के लिए सीधे ट्रेन मार्ग नहीं है। यदि आप ट्रेन से यात्रा करना चाहते हैं तो आपको नागालैंड के दीमापुर में रेलवे स्टेशन पहुंचना होगा। इसके बाद आप सड़क मार्ग से मणिपुर पहुंच सकते हैं। 

हवाई मार्ग द्वारा (By Airplane) – यदि आप हवाई जहाज से ट्रैवेल करना चाहते हैं तो आप आसानी से मणिपुर पहुंच सकते हैं। मणिपुर में तुलिहल हवाई अड्डा है, जहां आप उतर सकते हैं। उसके बाद आपको जिस स्थान पर जाना है वहां के लिए ऑटो या फिर टेक्सी ले सकते हैं।  

FAQs –

Q. मणिपुर में कौन–कौन से त्यौहार मनाए जाते हैं?

A. मणिपुर में कांग महोत्सव को बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इसके अलावा चीरोबा, चुम्फा, हेइक्रु हिडोंगबा, याओसांग जैसे त्यौहारों को भी यहां पर सेलिब्रेट किया जाता है। 

Q. मणिपुर का लोक नृत्य कौन सा है?

A. मणिपुर का मुख्य लोक नृत्य “मणिपुरी नृत्य” है। इसके अलावा रास लीला, पुंग चोलोम, खंबा थोईबी नृत्य, लुइवत फेजाक, थबल चोंगबा, थौगल जागोई भी यहां के लोक नृत्य हैं। 

Q. मणिपुर में कौन सा खेल सबसे प्रमुख है?

A. मणिपुर का सबसे प्रमुख खेल मुन्ना (मणिपुरी कुश्ती) है।

Q. मणिपुर भारत में कहां पर स्थित है?

A. मणिपुर राज्य भारत के पूर्वोत्तर में बसा हुआ है और इसकी राजधानी इंफाल है।

Q. मणिपुर क्यों प्रसिद्ध है?

A. मणिपुर राज्य में शिरोइ लिली फूल पाया जाता है, जो कि पूरी दुनिया में सिर्फ मणिपुर में ही मिलता है। 

निष्कर्ष (Conclusion) –

इस आर्टिकल में हमने आपको मणिपुरी से जुड़ी सारी  जानकारी दी है। इसमें हमने आपको मणिपुर के इतिहास, वहां की संस्कृति, मुख्य नृत्य और त्यौहारों के बारे में भी बताया है। इसके अलावा हमने आपको यह भी जानकारी दी है कि मणिपुर के लोगो की पारम्परिक वेशभूषा क्या है। मणिपुर का रहन सहन कैसा है और खाने में क्या फेमस है। 

आप यदि मणिपुर का ट्रिप प्लान कर रहे हैं तो किस मौसम में जाना आपके लिए अच्छा रहेगा और आप कहाँ कहाँ घूम सकते हैं, इसके बारे में भी हमने आपको बताया है। इसके अलावा आप मणिपुर कैसे पहुंच सकते हैं, वो भी आपको इस आर्टिकल में पता चल गया है। आशा है कि आपके लिए मणिपुर से जुड़ी ये सारी जानकारी Helpful रही होगी। यदि आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया हो तो आप इसे सोशल मिडिया पर भी शेयर करें, 

Thanks!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रीलंका में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल। भूटान में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल | भूटान से 10 जुड़े रोचक तथ्य (Interesting facts About Bhutan) 10 ट्रेवल कंटेंट क्रिएटर जो महीनों का लाखों कमाते है। कैंची धाम – नीम करोली बाबा से अनसुलझे जुड़े रहस्य।