Top 10 hill stations in Madhya Pradesh | मध्यप्रदेश के 10 शानदार हिल स्टेशन

जैसे ही मानसून आता है वैसे ही हम सब सबसे पहले हम सब गूगल पर यही सर्च करते है Top 10 hill stations in Madhya Pradesh. आज के इस ब्लॉग में हम बात करने वाले हैं मध्यप्रदेश के कुछ प्रसिद्ध हिल स्टेशन के बारे में। मध्यप्रदेश भारत का एक ऐसा राज्य जिसे उसका दिल कहा जाता है क्योकि यह देश के केंद्र में स्थित है जिसकी वजह से जब से यंहा पर गर्मी के मौसम में गर्मी , सर्दी के मौसम में सर्दी और बरसात के मौसम में बारिश कि भरमार होती है। इसी रीज़न से लोग गर्मी में और बरसात के मौसम में हिल स्टेशन जाना पसंद करते है ताकि गर्मी के मौसम में प्राकृतिक हवाएं और बसत के मौसम में खूबसूरत जलप्रपात का सुखद अनुभव ले सकें। हिल स्टेशन ही एक ऐसी जगह है जो की शहर की भाग दौड़ भरी जिंदगी से दूर शांति और पहाड़ियों का सुन्दर दृश्य का अनुभव कराती है।

Top 10 hill stations in madhya pradesh.
Top 10 hill stations in Madhya Pradesh: Image source

मध्यप्रदेश के 10 शानदार हिल स्टेशन – Best hill station in Madhya Pradesh

यदि आप मध्यप्रदेश या इसके पास के किसी भी राज्य के निवासी है और आप किसी अच्छे हिल्स स्टेशन के बारे सेन सर्च कर रहे है तो आप सही पेज पर आ चुके है। क्योकि हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले है Top 10 hill stations in Madhya Pradesh के बारें में और इन Hill Stations में कब जाना चाहिए और ये क्यो प्रसिद्ध है। आज हम आप लोगों को जिन खूबसूरत हिल स्टेशन के बारे में बताने वाले है ,जरूरी नहीं है की आप गर्मी के मौसम पर ही जाये बल्कि आप किसी भी मौसम पर जा सकते है। इसलिए इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़िए क्योकि इसके बाद और कोई आर्टिकल पढ़ने की जरूरत नहीं पड़ेगी। और कोई सुझाव हो तो कमेंट सेक्शन में जरूर बताइयेगा।

पचमढ़ी (Pachmarhi) – Must visited Hill station MP

Top 10 hill stations in Madhya Pradesh: मध्यप्रदेश में हो और अभी तक पचमढ़ी नहीं घूमें तो क्या घूमे। पचमढ़ी मध्यप्रदेश का सबसे ऊँचा और खूबसूरत हिल स्टेशन है। पचमढ़ी को कैंट के नाम से भी जाना जाता है। अगर आप एक स्टूडेंट हो टी अक्सर आपके एग्जाम में ये सवाल जरूर पूंछा जाता होगा की सतपुड़ा की रानी किसे कहा जाता है तो वो है पचमढ़ी। पचमढ़ी होशंगाबाद जिले में स्थित है जिसकी ऊंचाई 1100 मीटर है। पचमढ़ी में आप कई ऐतिहासिक स्मारक, प्राकृतिक सौंदर्य, झरने, गुफा,जंगल और कई अन्य दर्शनीय स्थलों का दीदार कर सकते हैं। मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा बारिश पचमढ़ी में होती है।

पचमढ़ी (Pachmarhi)

ओंकारेश्वर (Omkar Eshwar)-Hill stations near Indore

ओंकारेश्वर(Omkar Eshwar): ओंकारेश्वर नर्मदा और कावेरी नदियों के संगम पर स्थित ओंकारेश्वर मध्यप्रदेश के अत्यधिक खूबसूरत हिल स्टेशनों में से एक है माना जाता है कि इस हिल स्टेशन का नाम भगवान शिव के ‘ओंकारा’ से पड़ा, जो उनका एक और नाम है। ओंकारेश्वर को 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक होने का गौरव प्राप्त है। इस हिल स्टेशन पर आप ओंकारेश्वर मंदिर, अमरकेश्वर मंदिर, केदारेश्वर मंदिर और अहिल्या घाट आदि घूम सकते हैं.

hill stations in Madhya Pradesh

अमरकंटक (Amarkantak)

अमरकंटक (Amarkantak): मध्य प्रदेश के अनूपपुर जिले में स्थित विंध्य और सतपुड़ा पर्वत श्रृंखलाओं के बीच 1065 मीटर की ऊंचाई पर स्थित अमरकंटक एक बेहद खूबसूरत हिल स्टेशन है. यह हिल स्टेशन अपने मंदिरों , पहाड़ों झरनो और अपने ऐतिहासिक रहस्यों के लिए प्रसिद्ध है. यदि आप मध्य प्रदेश की यात्रा पर हैं तो अमरकंटक जाना बिल्कुल न भूलें. यहां आप नर्मदा कुंड, सोनमुडा , जैन मंदिर, कपिल धारा, त्रिमुखी मंदिर, दूध धारा जल प्रपात आदि घूम सकते हैं.

शिवपुरी ( Shivpuri)

मध्य प्रदेश का एक पुराना शहर और एक पुण्य स्थान, शिवपुरी को पहले सिपरी के नाम से जाना जाता था। शिवपुरी का इतिहास मुगल काल से है। शिवपुरी के घने जंगल पहले के समय में शाही शिकार के मैदान थे। शिवपुरी की समुद्र तल से ऊंचाई 478 मीटर है। यह शहर सभी विदेशी आकर्षणों में से एक है, जो इसे पर्यटकों के लिए एक बहुत ही शांतिपूर्ण स्थान बनाता है। पुरानी कथाओं के अनुसार, इस शहर का नाम भगवान शंकर के नाम पर रखा गया है। सन 1804 तक यह शहर कच्छवाहा राजपूतों के स्वर्ग के रूप में जाना जाता था। उसके बाद यहाँ सिंधिया राजवंश द्वारा शासन किया गया। इसके अलावा शिवपुरी स्वतंत्रता संग्राम से भी महत्व रखता है क्योंकि यह वह स्थान है जहां महान स्वतंत्रता सेनानी तात्या टोपे जी को फांसी दी गई थी।

रोचक तथ्य:-

शिवपुरी एक समय ग्वालियर के सिंधिया शासको कि ग्रीष्मकालीन राजधानी थी और इसके घने जंगल शिकार क्षेत्र थे। शिवपुरी पक्षियों के लिए एक लोकप्रिय गंतव्य है और कई पर्यटक पक्षियों की विशाल प्रजातियों को देखने के लिए यहां आते हैं। शिवपुरी ग्वालियर और झांसी के बीच एक नेचर गेटवे है|

शिवपुरी ( Shivpuri)
शिवपुरी जिला संग्रहालय

माण्डू (Mandau) – Top-rated Hill station in MP

जब भी बात किलों कि नगरी हो तो हमारे जहन में केवल एक है वो है मांडू जो की मध्यप्रदेश के मांडव शहर धार से लगभग 35 किमी और इंदौर से 100 किमी कि दूरी पर स्थित है और मध्य प्रदेश राज्य का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है जंहा हर महीने शैलानियों कि भीड़ लगी रहती है। मांडू मालवा क्षेत्र में स्थित है और इसकी आधिकारिक भाषा हिंदी है। मांडू अपने अद्भुत किले के लिए प्रसिद्ध है। किला 82 किमी की परिधि में है और इसे भारत में सबसे बड़ा माना जाता है।

इसमें महल सजावटी नहरों, स्नान मंडपों आदि के खंडहर हैं। मांडू में 40 से अधिक स्मारक हैं, जिन्हें तीन श्रेणी में बांटा गया है:

1. केंद्रीय ग्राम समूह,

2. रॉयल एन्क्लेव समूह और

3. रीवा कुंड समूह।


यह शहर रानी रूपमती और बाज बहादुर की पौराणिक कथा के लिए भी प्रसिद्ध है जो आज भी महल का शिकार करता है। मांडू में चंपा बावड़ी – एक कुआं, 15 वीं शताब्दी का और विशाल जामी मस्जिद, खूबसूरत जाहज़ महल (जहाज महल), हिंडोला महल, रोमांटिक बाज़ महल, रूपमती का मंडप और होशंग शाह का मकबरा वास्तुकला के कुछ अनमोल रत्न हैं और इन पर्यटन स्थल को और पर्यटक को जरूर देखना चाहिए।

मांडू में ऐसा माना जाता है कि सम्राट शाहजहाँ ने ताज महल के निर्माण की प्रेरणा केवल होशंग शाह के मकबरे से ली थी। मांडू घूमने जाने के लिए मानसून का समय सबसे बढ़िया होता है, जब मौसम खुशनुमा होता है और चारों ओर हरियाली और हरे-भरे परिदृश्य और बैंगनी सूर्यास्त आकाश के बीच स्मारकों की रहस्यमय सुंदरता, बीते युग की जीवंत तस्वीर को चित्रित करती है। यह महल अपने “खुसरानी इमली” के लिए भी प्रसिद्ध है।

खंडहर 21 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है। मुस्लिम शासकों ने इसे शादियाबाद या City of joy करार दिया।

माण्डू (Mandu)

तामिया (Tamia)

आज कई ऐसे टूरिस्ट डेस्टिनेशन हैं जो कि सुन्दर, मनमोहक के साथ साथ अद्भुत भी है और उनके अपने कई रहस्य हैं जिनमे से है तामिया हिल स्टेशन। यह मध्यप्रदेश के छिपे खजानो में से एक है। यह चारों तरफ जंगलों से घिरा हुआ है। तामिया हिल स्टेशन सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के अंतर्गत आता है जो कि पचमढ़ी से लगा हुआ है, समुद्र तल से अधिक उचाई पर होने के कारण यहाँ अक्सर तेज हवाएं चलती है। तामिया में एक स्ताहन है रेस्ट हाउस जंहा से यहाँ का खूबसूरत नजारा देखने को मिलता है। यहाँ एक तरफ ऊंची-ऊंची पहाड़िया तो दूसरी ओर दूर तक फैली हरियाली का अद्भुत नजारा होता है।

तामिया (Tamia)

मकड़ाई हिल्स (Makdai hills)

मकडाई भिरंगी रेलवे स्टेशन से तकरीबन 24 किलोमीटर कि दूरी पर तथा हरदा मुख्यालय से लगभग 37 किलोमीटर कि दूरी पर स्थित है। मकड़ाई भूतपूर्व जागीरी रियासत मकड़ाई का एक प्रमुख मार्ग है।इस रियासत का विस्तार समृद्ध ग्रम नर्मदा कि खुली घाटियों तक है लेकिन इसका मुख्य वनाच्छादित अधिकांष भाग सतपुडा की निचली ढलानों पर फैला हुआ है। मकडाई ग्राम में ऊँची पहाड़ी पर स्थित एक प्राचीन किला बना हुआ है। यहां का राजघराना राजगोंड परिवार का वंषज बताया जाता है। मकडाई के किले में राजभवन की काष्ठकला अपने आप में विषिष्ट है

मकडाई मंदिर Harda

कुकरू खामला (Kukru khamla)

मध्यप्रदेश के बैतूल जिले के भैंसदेही तहसील के अंतर्गत आने वाली सतपुड़ा पर्वत माला में कुकरू खामला स्थित है,जो कि जिला मुख्यालय से लगभग 90-92 किलोमीटर कि दूरी पर स्थित है। कुकरू खामला बैतूल जिले की सबसे ऊँची चोटी में से एक है। सतपुड़ा पर्वत का एक बहुत बड़ा हिस्सा बैतूल जिले में आता है इसलिए बैतूल जिले को सतपुड़ा की रानी भी कहा जाता है। इस पर्वत और जंगल के इलाके में कोरकू जनजाति रहती है।

इसलिए इस इलाके को कुकरू के नाम से जाना जाता है। यह बहुत ही छोटा गांव है जिसकी जनसँख्या तकरीबन 450-510 के आसपास रहती है और इनकी मुख्य आजीविका का साधन खेती और पशुपालन है।क्योकि यह बहुत अधिक ऊंचाई पर स्थित है इसलिए यंहा अक्सर तेज़ हवाएं चलती रहती हैं। इस स्थान की समुद्र ताल से ऊंचाई लगभग 1138 मीटर है। यंहा का सूर्यास्त और सूर्योदय बहुत ही अद्भुत होता है। यह इलाका मध्यभारत का एक मात्रा ऐसा स्थान है जंहा पर काफी के बागान है। हिमांचल प्रदेश के कुल्लू से कम नहीं है मध्यप्रदेश का कुकरू खामला।

कुकरू खामला

कुकरू खामला पंहुच मार्ग / How to reach Kukru Khamla

अगर आप बैतूल जा रहें है तो प्रमुख रूप से बस और रेलसेवा मिल जाएगी।
कुकरू खामला जाने के लिए बस सेवाएं उपलब्ध है जो की भैंसदेही होते हुए जाती है, इसलिए यहाँ पहुंचना और भी आसान हो जाता है।

जानापाव हिल्स, इंदौर – Best hill station in MP

अगर बात हिल स्टेशन कि हो रही हो और उसमे इंदौर का नाम न ऐसा कभी हो सकता है भला। इंदौर शहर से लगभग 40 किलोमीटर और महू शहर से 17 किलोमीटर कि दूरी पर स्थित विंध्यांचल पर्वत माला के एक पर्वत को जानापाव (Janapav hills) कहते है। इसको लोग कई नामों से बुलाते है जन्मे से जानापाव कुटी ,परशुराम जन्मस्थली , जानापाव हिल्स और भी बहुत कुछ। इस पर्वत की सबसे ऊँची छोटी पर भगवान परशुराम कि जन्मस्थली और उनके पिता महर्षि जमदग्रि की तपोभूमि देखने दूर दूर से लोग आते हैं।

जानापाव हिल्स मध्यप्रदेश के इंदौर जिले की महू तहशील में स्थित एक गांव हासलपुर में है। इस पहाड़ी से साढ़े सात नदियां निकलती हैं जिनमे से कुछ नर्मदा और यमुना में जाकर के मिलती है। इस पहाड़ कि सबसे खास बात यह की जब आप ऊपर चढ़े होते हो तो आपको सिर्फ बादल ही बादल दिखाई देते है। बरसात के मौसम में अलग ही मजे आ जाते है। पिछले साल मैं जानापाव हिल्स घूमने गया था जो के मेरे लिए काफी रोमांचकारी था उसके कुछ क्लिप्स आप नीचे दिए गए वीडियो में देख सकते हैं।

रीवा (Rewa)

अंग्रेजों के ज़माने से विंध्य प्रदेश की राजधानी रहा रीवा शहर आज के समय में मध्य प्रदेश का एक प्रमुख जिला और संभाग है जहां लोगो को घूमने फिरने के लिए किला, जलप्रपात ,सफारी और भी बहुत कुछ उपस्थित है। अगर आप रीवा शहर घूमने कि प्लानिंग कर रहे है तो उसके 40 किलोमीटर के अंतराल में तकरीबन 10 से भी ज्यादा जलप्रपात देखने को मिल जायेगा। रीवा शहर में प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में मैंने पहले ही एक आर्टिकल लिखा है।

इसे पढ़े

Best tourist place in rewa mp
Bardaha Ghati

आशा करता हूँ आपको इस आर्टिकल के माध्यम से अच्छी जानकरी दे पाया होऊंगा। फिर भी अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप आप कमेंट सेक्शन में पूँछ सकते है या कांटेक्ट उस में जाकर हमसे सम्पर्क कर सकते है।

धन्यवाद्!

Web Stories

4 Comments

  1. […] इसे भी पढ़ें: भारत के ह्रदय में स्थित राज्य मध्यप्रदेश में घूमने वाले प्रमुख हिल स्टेशन (hill stations in madhya pradesh) […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रीलंका में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल। भूटान में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल | भूटान से 10 जुड़े रोचक तथ्य (Interesting facts About Bhutan) 10 ट्रेवल कंटेंट क्रिएटर जो महीनों का लाखों कमाते है। कैंची धाम – नीम करोली बाबा से अनसुलझे जुड़े रहस्य।
श्रीलंका में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल। भूटान में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल | भूटान से 10 जुड़े रोचक तथ्य (Interesting facts About Bhutan) 10 ट्रेवल कंटेंट क्रिएटर जो महीनों का लाखों कमाते है। कैंची धाम – नीम करोली बाबा से अनसुलझे जुड़े रहस्य।