बर्फ से ढकी पहाड़ियां और झीलें हैं पसंद तो लद्दाख जरूर जाएं। places to visit in Ladakh

places to visit in Ladakh

क्या आपको झीलें, नदियां और बर्फ से ढकी हुई पहाड़ियां पसंद है? अगर हां तो आपको लद्दाख घूमने के लिए जाना चाहिए। यह भारत का एक बहुत ही खूबसूरत पर्यटन स्थल है, जहां पर दुनिया भर से लोग घूमने के लिए जाते हैं। लद्दाख का अद्भुत बर्फीला वातावरण और शांत पर्यावरण दुनिया भर के Tourists को अपनी ओर आकर्षित करता है।

यहां के जो स्थानीय बाजार हैं, वहां पर भी टूरिस्ट भारी मात्रा में जाते हैं। लद्दाख में आपको एक से बढ़कर एक अद्भुत और निराली जगह (Places to visit in Ladakh) देखने का मौका मिलेगा। चाहे फिर वह ऊंचे ऊंचे बर्फीले पहाड़ हो या फिर प्रकृति का सौंदर्य। यदि आप भी लद्दाख के Tour पर जाना चाहते हैं तो आपको इस प्रदेश से संबंधित सभी जानकारी होनी चाहिए। तो लद्दाख से जुड़ी हुई हर छोटी-बड़ी बात जानने के लिए हमारे आज के इस लेख को पूरा पढ़ें।

लद्दाख का इतिहास क्या है (What is History of Ladakh in Hindi)?

950 ई. से लेकर 1834 ई. तक लद्दाख एक स्वतंत्र राज्य था, लेकिन जब हिंदू डोगरा ने इस पर हमला किया तो यह स्वतंत्र राज्य नहीं रहा। फिर 1841 ई. में चीन-सिख में लड़ाई हुई तो उस युद्ध में चीन- तिब्बत की सेना हार गई थी और इस प्रकार से इसका नियंत्रण सिखों के हाथों में आ गया। उसके बाद फिर 1845– 46 ई. में अंग्रेजों ने सिखों को हराकर जम्मू कश्मीर और लद्दाख के क्षेत्र पर अपना शासन स्थापित कर लिया था। ‌

इसी प्रकार से लद्दाख पर बहुत सारे हमले किए गए और इसे आखिरकार साल 2019 में भारत सरकार ने अपना केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया। जानकारी दे दें कि भारत सरकार के केंद्र शासित प्रदेश घोषित करने से पहले लद्दाख जम्मू कश्मीर का क्षेत्र हुआ करता था। इसके अलावा बता दें कि कारगिल का युद्ध भी लद्दाख में ही हुआ था।

लद्दाख राज्य से जुड़े हुए कुछ महत्वपूर्ण पॉइंट्स

राज्य का नामलद्दाख 
राजधानी का नामलेह 
कब स्थापना हुई31 अक्तूबर 2019
क्षेत्रफल59,186 वर्ग किमी 
कुल जिले2
कुल जनसंख्या2,74289
जनसंख्या का घनत्व4.6 किलोमीटर 
साक्षरतालगभग 67%
बोली जाने वाली भाषाएंहिंदी, लद्दाखी और तिब्बती 
किस लिए फेमस है बर्फीले वातावरण, कारगिल, मठ 

लद्दाख राज्य की संस्कृति (Culture of Ladakh in Hindi) –

लद्दाख में रहने वाले लोग बहुत ही शांत प्रवृत्ति के होते हैं। जो कोई भी लद्दाख घूमने जाता है तो लद्दाख के लोग उनकी हर तरह से सहायता करने के लिए तैयार रहते हैं। हालांकि लद्दाख में बौद्ध धर्म का काफी प्रभाव दिखता है, लेकिन यहां पर हिंदू, मुस्लिम और ईसाई धर्म के लोग भी रहते हैं। यहां की धार्मिक पेंटिंग बहुत ज्यादा लोकप्रिय है, जिनमें बनाए गए हर चित्र में भावों का कोई ना कोई प्रतीकात्मक मतलब होता है।

लद्दाख में थंगकास नाम की पेंटिंग कला और संस्कृति का एक बहुत ही अद्भुत रूप है। इस तरह की पेंटिंग को बहुत ही मुलायम कपड़े पर बनाया जाता है। लद्दाख के वास्तुकला और कला में मिश्रित संस्कृति की झलक दिखाई देती है और यह राज्य खूबसूरत मठ के लिए भी बहुत ज्यादा प्रसिद्ध (Famous) है। 

लद्दाख राज्य के त्यौहार (Festivals of Ladakh in Hindi) –

लद्दाख राज्य के रहने वाले लोगों में कई धर्मों के लोग शामिल हैं। इसलिए यहां पर मिले-जुले त्यौहार मनाए जाते हैं। लद्दाख में मनाए जाने वाले कुछ त्यौहार सिंधु दर्शन फेस्टिवल, हेमिस फेस्टिवल, लोसर फेस्टिवल, दोसमोचे, लोसर, माथो नाथरंग, थिक्से, फियांग और हार्वेस्ट फेस्टिवल हैं। यह सारे त्यौहार पूरे लद्दाख राज्य में धूमधाम से और खुशी से मनाए जाते हैं। 

लद्दाख का रहन सहन (Lifestyle of Ladakh in Hindi) –

लद्दाख के ज्यादातर लोग जंगली बकरी, याक, भेड़ जैसे जानवरों को पालते हैं, ताकि इनसे वे दूध और मांस प्राप्त कर सकें। यहां पर रहने वाले लोग ऊनी वस्त्रों को कातकर उन्हें बुनते हैं। पूरी दुनिया में लद्दाख का कपड़ा उद्योग बहुत ही ज्यादा फेमस है। यहां का जो सबसे प्रसिद्ध उत्पाद है वो है पशमीना शॉल, जोकि ऊन से बुना जाता है। इसके अलावा लद्दाख के लोग खेती-बाड़ी भी करते हैं और इसके अंतर्गत जौ, सेब, खुबानी, अखरोट का उत्पादन करके अपना भरण-पोषण करते हैं। 

लद्दाख के लोगों की पारंपरिक वेशभूषा (Traditional Dress of Ladakh in Hindi) –

लद्दाख के लोगों की पारंपरिक वेशभूषा में ट्रांस हिमालयी प्रभाव को देखा जा सकता है। यहां पर आमतौर पर गोंचा नामक पोशाक (Costume) पहनी जाती है, जो लद्दाख में पड़ने वाली अत्यधिक ठंड और ठंडी जलवायु के अनुसार बनाई गई है। गोंचा आमतौर पर गरीब लोगों के द्वारा पहना जाता है और यह मोटे मैरून रंग के होमस्पून ऊनी कपड़े के द्वारा बनाया जाता है।

जब कोई विशेष अवसर होता है तो ऐसे में काले रंग के गोंचा पहने जाते हैं, जिन पर चांदी की चमक जैसी पाइपिंग और कॉलर बना होता है। महिलाएं और पुरुष दोनों ही गोंचा पहनते हैं लेकिन महिलाओं का गोंचा ज्यादा सुंदर होता है। गोंचा के अलावा महिलाएं चुबा नाम की पोशाक भी पहनती हैं जो कि एक बहुत ही सुंदर गाउन जैसा होता है।

लद्दाख के लोगों का नृत्य (Dance of Ladakh in Hindi) –

लद्दाख में रहने वाले लोग संगीत और नृत्य को भी बहुत ज्यादा पसंद करते हैं। यहां पर रहने वाले लोगों में तिब्बती बौद्ध धर्म के अलावा दूसरे धर्मों के लोग भी रहते हैं जिसकी वजह से जब लद्दाख में कोई उत्सव होता है तो वहां पर धार्मिक नाटकों और नृत्य का बहुत ही खूबसूरती के साथ आयोजन होता है। यहां के प्रमुख लोक नृत्य में छाम नृत्य, शोण्डोल नृत्य, खटोन नृत्य और चेनमो नृत्य शामिल है। 

लद्दाख राज्य का खान पान (Foods of Ladakh in Hindi) –

लद्दाख राज्य में आप तिब्बती खाने का स्वाद चख सकते हैं। ऐसे लोग जिन्हें तिब्बती खाना पसंद है उन्हें लद्दाख का खाना बहुत पसंद आएगा। यहां के कुछ स्वादिष्ट और लोकप्रिय व्यंजन (Foods) इस प्रकार से हैं –

  • मक्खन की चाय
  • थुक्पा
  • खंबिर
  • खमीर रोटी 
  • मोकथुक
  • छांग
  • मोमोज
  • टिग्मो

लद्दाख घूमने जाने का सबसे बेहतरीन समय (Best Time to Visit Ladakh) –

वैसे तो आप लद्दाख घूमने के लिए पूरे साल भर में कभी भी जा सकते हैं। पर अगर आप सड़क के रास्ते से लद्दाख की यात्रा करना चाहते हैं तो तब आपको केवल 15 अप्रैल से लेकर अक्तूबर तक ही घूमने जाना चाहिए। दरअसल नवंबर से लेकर मार्च के महीने तक लद्दाख में बहुत भारी बर्फबारी होती है, जिसके कारण सड़क के रास्ते बंद कर दिए जाते हैं। ऐसे मौसम में आपको लद्दाख जाने के लिए फ्लाइट लेनी होगी। तो इसलिए आप अपनी सुविधा के अनुसार अपने Tour की Planning कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़े: पांडिचेरी में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल

लद्दाख में घूमने लायक जगह (10 best Places to Visit in Ladakh) –

लद्दाख अत्याधिक अद्भुत और खूबसूरत राज्य है, जहां पर आप को ऊंचे ऊंचे पहाड़, मठ और बर्फीला वातावरण देखने को मिलेगा। यहां पर घूमने लायक जगहें बहुत सारी हैं, जिनमें से कुछ निम्नलिखित हैं –

  • पेगोंग झील
  • खारदुंग ला पास 
  • मैग्नेटिक हिल 
  • लेह पैलेस 
  • चादर ट्रैक
  • फुग़ताल मठ
  • शांति स्तूप 
  • रिवर राफ्टिंग 
  • लेह बाजार
  • हेमिस मठ
  • गुरुद्वारा पथर साहिब
  • वन्य जीव अभयारण्य चांगतांग वाइल्ड लाइफ सेंचुरी 
  • डिस्किट मॉनेस्ट्री 
  • तुरतुक गांव 
  • त्सो मोरीरी झील 
  • कारगिल 
  • स्टोक पैलेस
  • हंडर 

इसे भी पढ़े: खूबसूरती और रोमांस से भरा लक्षद्वीप किसी जन्नत से कम नहीं

लद्दाख कैसे जाएं (How to Reach Ladakh) –

लद्दाख जाने के लिए आप हवाई मार्ग या फिर सड़क मार्ग का चुनाव कर सकते हैं। लद्दाख जाने के लिए यातायात (Transportations) की जानकारी निम्नलिखित है –

  • हवाई जहाज से यदि आप हवाई जहाज से लद्दाख जाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको भारत के बड़े शहरों जैसे मुंबई और दिल्ली से फ्लाइट मिल जाएगी। Aeroplane  से यात्रा करके आप लेह तक पहुंच सकते हैं और उसके बाद आप टैक्सी लेकर लद्दाख पहुंचने का सफर तय कर सकते हैं। 
  • ट्रेन से लद्दाख पहुंचने के लिए अगर आप ट्रेन से Travel करने के इच्छुक हैं तो आपको बता दें कि इस राज्य तक पहुंचने के लिए रेलवे स्टेशन नहीं बनाया गया है, क्योंकि लद्दाख एक पहाड़ी इलाका है। पर फिर भी यदि आप ट्रेन से ट्रैवल करना चाहते हैं तो तब आपको सबसे पहले जम्मू रेलवे स्टेशन तक पहुंचना होगा। उसके बाद फिर आप टैक्सी की सुविधा लेकर लद्दाख जा सकते हैं। 
  • सड़क मार्ग से लद्दाख भारत का एक बहुत ही लोकप्रिय Tourist Place है, जिसके कारण भारत के बहुत सारे राज्यों से लद्दाख सड़क के द्वारा पहुंचा जा सकता है। इसलिए यदि आप अपनी कार से लद्दाख जाना चाहते हैं तो जा सकते हैं। पर यदि आप बस से लद्दाख पहुंचना चाहते हैं तो ऐसे में आपको मनाली और श्रीनगर से बस की Facility मिल जाएगी। 

निष्कर्ष (Conclusion) –

इस आर्टिकल में हमने आपको लद्दाख से जुड़ी हुई जानकारी दी। हमने आपको अपने इस लेख में बताया कि लद्दाख का इतिहास क्या है और वहां की संस्कृति क्या है। इसके साथ-साथ हमने आपको लद्दाख के खानपान की जानकारी भी दी और हमने आपको यह भी बताया कि आप लद्दाख कैसे पहुंच सकते हैं।

अपने इस आर्टिकल में हमने आपको यह जानकारी भी दी कि आप कौन से मौसम में लद्दाख का Tour कर सकते हैं। लद्दाख में जो सबसे ज्यादा घूमने लायक जगह हैं हमने आपको उनके बारे में भी बताया। हमें पूरी उम्मीद है कि हमारी यह पोस्ट आपके लिए काफी ज्यादा Helpful रही होगी।

इसे भी पढ़ें: अंडमान एंड निकोबार द्वीप समूह का इतिहास, संस्कृति घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल, खान-पान और जीवन शैली

FAQ’s –

Q. लद्दाख कहां पर स्थित है? 

A. लद्दाख भारत के जम्मू कश्मीर के पूर्व में स्थित है और यह एक ऊंचा पठार है। 

Q. लद्दाख कैसे जाएं?

A. लद्दाख बस, कार या फिर फ्लाइट से पहुंचा जा सकता है। 

Q. लद्दाख में कितने जिले हैं और उनके नाम क्या हैं?

A. लद्दाख में कुल 2 जिले हैं जिनमें से एक का नाम लेह है और दूसरे का नाम कारगिल है। 

Q. लद्दाख घूमने जाने के लिए कौन से परमिट की जरूरत पड़ती है? 

A. लद्दाख घूमने जाने के लिए जिस परमिट की जरूरत पड़ती है उसका नाम इनर लाइन परमिट है। 

Q. लद्दाख में कहां ठहरें 

A. लद्दाख में ऐसे बहुत सारे होटल हैं जहां पर ठहरा जा सकता है।

यदि आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे Social Media पर जरूर Share करें,

Thank you!

यदि आप इंग्लिश में ट्रेवल आर्टिकल पढ़ना चाहते हैं तो UTR Villagers को विजिट करें।

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

श्रीलंका में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल। भूटान में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल | भूटान से 10 जुड़े रोचक तथ्य (Interesting facts About Bhutan) 10 ट्रेवल कंटेंट क्रिएटर जो महीनों का लाखों कमाते है। कैंची धाम – नीम करोली बाबा से अनसुलझे जुड़े रहस्य।
श्रीलंका में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल। भूटान में घूमने वाले प्रमुख पर्यटन स्थल | भूटान से 10 जुड़े रोचक तथ्य (Interesting facts About Bhutan) 10 ट्रेवल कंटेंट क्रिएटर जो महीनों का लाखों कमाते है। कैंची धाम – नीम करोली बाबा से अनसुलझे जुड़े रहस्य।